Lakhimpur Kheri violence: प्रियंका गांधी, कांग्रेस के अन्य नेताओं ने लखनऊ में मनाया ‘मौन व्रत’

लखनऊ: कांग्रेस की वरिष्ठ नेता प्रियंका गांधी वाड्रा, उत्तर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने पार्टी नेताओं और कार्यकर्ताओं के साथ लखीमपुर खीरी हिंसा मामले में केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा को बर्खास्त करने की मांग को लेकर सोमवार को मौन व्रत रखा।

लखीमपुर खीरी हिंसा को लेकर रखा गया ‘मौन व्रत’

मंत्री के बेटे आशीष को शनिवार को यूपी पुलिस ने 3 अक्टूबर को हुई हिंसा के सिलसिले में गिरफ्तार किया था, जिसमें 4 किसानों सहित 8 लोग मारे गए थे। उसे शनिवार देर रात एक अदालत में पेश किया गया, जहां से उसे 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी, जो राज्य की राजधानी में हैं, भी GPO पार्क में धरने में शामिल हुईं। कांग्रेस पार्टी मामले में स्वतंत्र और निष्पक्ष जांच सुनिश्चित करने के लिए गृह राज्य मंत्री को बर्खास्त करने की मांग कर रही है।

इस बीच, यूपी के मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने कहा कि कानून अपना काम करेगा और किसी भी तरह के दबाव से प्रभावित नहीं होगा। सिंह ने कहा कि अगर कांग्रेस नेता ‘मौन व्रत’ पर बैठना चाहते हैं या विरोध प्रदर्शन करना चाहते हैं, तो यह उनका लोकतांत्रिक अधिकार है।

यूपी सरकार के प्रवक्ता ने पूर्व PM मनमोहन सिंह पर कटाक्ष करते हुए कहा कि वह 10 साल से ‘मौन व्रत’ कर रहे हैं। सिद्धार्थ नाथ सिंह ने पूछा कि राजस्थान और छत्तीसगढ़ में कोई विरोध प्रदर्शन क्यों नहीं किया जा रहा है, जहां कथित तौर पर दलितों और किसानों के खिलाफ अत्याचार किए जा रहे हैं।

यह भी पढ़ें: ‘राजनीतिक नेता होने का मतलब यह नहीं है कि आप किसी को फॉर्च्यूनर से कुचल दें’

(Puridunia हिन्दी, अंग्रेज़ी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब  पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)…

Related Articles