नौकरी दिलाने के नाम पर लाखों की ठगी, आरोपी हुए गिरफ्तार

हल्द्वानी में नौकरी दिलाने के नाम पर 9 लाख की ठगी करने वाले तीन आरोपी गिरफ्तार

हल्द्वानी: केन्द्रीय उत्पाद एवं सीमा शुल्क विभाग में नौकरी दिलाने के नाम पर नौ लाख रूपये की ठगी करने वाले आरोपी रजत भूटानी, दीपा भूटानी और किरन आर्या को गिरफ्तार करने में नैनीताल जिले की हल्द्वानी पुलिस को कामयाबी मिली है।

पीड़ित पक्ष मिली राहत

ठगी में शामिल आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज करवाने के लिए अदालत का दरवाजा खटखटाने से लेकर प्रधानमंत्री कार्यालय और केन्द्रीय गृह मंत्रालय तक गुहार लगाने वाले पीड़ित पक्ष ने अब जाकर राहत की सांस ली है।

थियेटर कलाकार

इस मामले में शिकायतकर्ता थियेटर कलाकार हल्द्वानी निवासी करन सिंह बोरा के अधिवक्ता रमेश चन्द्र पाण्डेय ‘पथिक’ ने पूरी दुनिया मीडिया संस्थान को बताया कि शिकायतकर्ता के भाई महिपाल सिंह बोरा को नौकरी दिलाने के नाम पर मुख्य आरोपी रजत ने अपनी पत्नी दीपा, सम्बंधी किरन व एक अन्य युवक अंशू मौर्य के सहयोग से नौ लाख रूपये की रकम चैक, नकद एवं राष्ट्रीय इलैक्ट्रानिक निधि अंतरण(एनईएफटी) के जरिए प्राप्त की। उन्होंने बताया कि इसके बाद रजत ने ‘कस्टम एक्साईज आफिसर’ पद के लिए पीड़ित महिपाल के नाम से 13 अप्रैल 2018 को जारी एक नियुक्ति पत्र ई-मेल के जरिए उपलब्ध कराया।

भारत सरकार की मुहर

इस नियुक्ति पत्र में सीमा शुल्क एवं केन्द्रीय उत्पाद शुल्क भारत सरकार की मुहर होने के अलावा कस्टम क्लीयरेन्स डिपार्टमेंट इंदिरा गांधी एयरपोर्ट का पता भी अंकित था लेकिन पीड़ित ने जब डाक के जरिए नियुक्ति के सम्बंध जानकारी लेनी चाही तो भेजे गये पते से डाक वापस आ गयी।अधिवक्ता के अनुसार, शिकायतकर्ता ने मामले की सूचना थाना पुलिस में दी। पुलिस ने चौकी में मुख्य आरोपी और उसकी कथित महिला रिश्तेदार को शिकायतकर्ता से मिलवाया और यह कहकर आरोपियों को जाने दिया कि शिकायतकर्ता के पैसे वापस करा दिये जायेंगे।

फर्जी दस्तावेज

इसके बाद शिकायतकर्ता ने अपर मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट(एसीजेएम) हल्द्वानी के न्यायालय में प्रार्थना पत्र अंतर्गत धारा 156(3) प्रस्तुत किया और पुलिस की आख्या पर न्यायालय ने अपराध पंजीकृत करवाने हेतु दाखिल प्रार्थना पत्र को खारिज कर दिया। फैसले के खिलाफ शिकायतकर्ता ने सत्र न्यायाधीश नैनीताल के समक्ष समीक्षा याचिका दायर की। फर्जी नियुक्ति दस्तावेजों को संलग्न करते हुए प्रधानमंत्री कार्यालय और केन्द्रीय गृह मंत्रालय में भी शिकायत की।इस मामले में शिकायतकर्ता ने देहरादून जाकर पुलिस महानिदेशक कार्यालय को भी अवगत कराया।

विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज

इस बीच मामले में सत्र न्यायालय के थाना पुलिस से आख्या मांगे जाने के बाद पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज कर जांच आरम्भ की। जांच के दौरान एक आरोपी हल्द्वानी निवासी अंशू मौर्य को गिरफ्तार कर लिया।जांच अधिकारी पुलिस उपनिरीक्षक संजीत राठौर की सजगता से तीनों आरोपियों को गत शनिवार को गिरफ्तार कर लिया गया।

यह भी पढ़ेIND vs AUS: डे-नाईट मुकाबले से पहले नेट्स पर मयंक के मेंटर बने विराट

यह भी पढ़ेअफगानिस्तान के कंधार में सुरक्षाबलों का अभियान, 60 तालिबानी आतंकवादी ढेर

Related Articles

Back to top button