ललितपुर: कागजातों में हेराफेरी के आरोप में वीडीओ सहित चार के खिलाफ़ मामला दर्ज

विकासखंड तालबेहट के अंतर्गत ग्राम हर्षपुर में तैनात ग्राम विकास अधिकारी ब्रह्मकुमार रिछारिया पर मनरेगा योजना के तहत कराए गए कार्यों में जमकर घोटाला किये जाने और इस घोटाले में तीन लोग भी शामिल होने के गंभीर आरोप लगे थे.

ललितपुर: उत्तर प्रदेश के ललितपुर में मनरेगा के तहत फर्जी काम और कागजातों में हेराफेरी करने के आरोप में ग्राम विकास अधिकारी (वीडीओ) सहित चार के विरूद्ध रविवार को मामला दर्ज कराया गया.

कोतवाली पुलिस ने खंड विकास अधिकारी की तहरीर के आधार पर सभी आरोपियों के खिलाफ 420 एवं 25 मनरेगा एक्ट में मामला पंजीकृत कर विवेचना प्रारंभ कर दी है.

विकासखंड तालबेहट के अंतर्गत ग्राम हर्षपुर में तैनात ग्राम विकास अधिकारी ब्रह्मकुमार रिछारिया पर मनरेगा योजना के तहत कराए गए कार्यों में जमकर घोटाला किये जाने और इस घोटाले में तीन लोग भी शामिल होने के गंभीर आरोप लगे थे. मामला संज्ञान में आने के बाद उच्च अधिकारियों द्वारा जब इस मामले की जांच कराई गई तब मनरेगा में हुआ घोटाला स्पष्ट नजर आया, जिसके बाद खंड विकास अधिकारी जखौरा अजीत प्रकाश ने कोतवाली तालबेहट पुलिस को लिखित रूप से आरोपी ग्राम विकास अधिकारी के साथ इस घोटाले में सम्मलित ग्राम पंचायत समिति के तीन सदस्यों जगत सिंह पुत्र भगवत सिंह, दीपेन्द्र पुत्र सोहन लाल रजक व रश्मि पत्नी रामकुमार कुशवाहा के विरूद्ध शिकायती पत्र दिया. इसी पत्र के आधार पर आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है.

यह भी पढ़े: फिल्म ‘लक्ष्मी बम’ के प्रमोशन के लिए अक्षय और कियारा पहुंचे ‘द कपिल शर्मा शो’ में

Related Articles

Back to top button