योगी पर लल्लू का पलटवार बोले ‘सत्ता के लिये भाजपा कुछ भी कर सकती है’

लल्लू बोले, भाजपा ने पीडीपी के साथ मिलकर जम्मू कश्मीर में क्यों बनायी थी सरकार।

लखनऊ: कांग्रेस पर जम्मू-कश्मीर में अलगाववादी तत्वों का साथ देने और धारा 370 पर अपनी स्थिति साफ करने के उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के बयान पर पलटवार करते हुये प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेता को कोई सवाल करने से पहले स्पष्ट करना चाहिये कि महबूबा मुफ्ती की पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) के साथ मिलकर सरकार बनाने के पीछे उसकी मंशा क्या थी।

कांग्रेस पर योगी ने लगाया आरोप

लल्लू ने कहा “योगी जी को कांग्रेस पर आरोप लगाने से पहले देश की जनता को बताना चाहिये कि भाजपा ने पीडीपी के साथ मिलकर जम्मू कश्मीर में सरकार क्यों बनायी थी। वास्तव में भाजपा की नीति है कि वह सरकार बनाने के लिये किसी भी हद तक जा सकती है। कांग्रेस के प्रवक्ताओं ने पहले से ही जम्मू कश्मीर के मामले में पार्टी की नीति स्पष्ट कर दी है। ”

बलात्कार की घटना

लल्लू ने कहा, योगी बतायें कि उन्नाव, शाहजहांपुर, बुलंदशहर, हाथरस, बस्ती, बाराबंकी और कानपुर में महिलाओं के साथ लगातार बढती बलात्कार की घटनाओं को रोकने के लिये उनकी सरकार ने क्या उपाय किये हैं। बेटी बचाओ बेटी पढाओ का नारा देने वाली भाजपा सरकार के कार्यकाल में बेटियों के खिलाफ उत्पीड़न की घटनाये लगातार बढ़ रही हैं।

(पब्लिक रिलेशन) पार्टी

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि भाजपा की पहचान पीआर (पब्लिक रिलेशन) पार्टी के तौर पर आम जनता के बीच बन चुकी है और 2022 के चुनाव में जनता उसको सत्ता में बाहर करने का मन बना चुकी है। कांग्रेस पर मनगढ़ंत आरोप लगाने वाली भाजपा के दिन पूरे हो चुके हैं।

धारा 370 हटाये जाने का विरोध

गौरतलब है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गुरूवार को एक संवाददाता सम्मेलन में कांग्रेस पर जम्मू कश्मीर के अलगाववादी नेताओ के समूह का समर्थन करने का आरोप लगाया था। उन्होने कहा कि गुपकार गैंग के बीच कश्मीर को अस्थिर करने संबंधी समझौते का कांग्रेस के कुछ वरिष्ठ और स्थानीय नेताओं समर्थन किया था। उन्होने आरोप लगाया था कि वरिष्ठ कांग्रेसी पी चिदंबरम और गुलाम नवी आजाद समेत कुछ अन्य नेता धारा 370 हटाये जाने का विरोध खुलेआम कर चुके है जो देश की संप्रभुता और अख्ंडता के लिये एक गंभीर खतरा है।

यह भी पढ़े:भारत और भूटान के प्रधानमंत्री ने दोनों देशो के बीच रूपे कार्ड परियोजना का दूसरा चरण किया शुरू

यह भी पढ़े:‘सरकारी धन की रिकवरी के साथ ग्राम पंचायत के जिम्मेदारों पर होगी FIR दर्ज’

Related Articles

Back to top button