लालू ने नीतीश पर फिर बोला हमला, कहा- बीजेपी के साथ मिलकर ख़त्म करना चाहते हैं आरक्षण

0

पटना| राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के मुखिया और बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव बुधवार को बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के खिलाफ एक बार फिर हमलावर नजर आए। अपने व्यंगात्मक तंज की वजह से सुर्ख़ियों में रहने वाले लालू ने इस बात नीतीश को आरक्षण विरोधी बताया है। उनका कहना है कहा कि वे दलितों और वंचितों की बात नहीं सुनते हैं।

लालू प्रसाद ने बुधवार को पटना में पत्रकारों से बातचीत करते हुए यह बयान दिया। लालू ने जद (यू) के नेता और पूर्व मंत्री श्याम रजक और बिहार के पूर्व विधानसभा अध्यक्ष उदय नारायण चौधरी के बयानों को सही ठहराते हुए कहा कि केंद्र की भाजपा सरकार हो या बिहार में नीतीश की सरकार, दोनों आरक्षण समाप्त करना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि नीतीश सरकार दलितों, पिछड़ों की आवाज नहीं सुनती है।

लालू ने कहा कि भाजपा आरक्षण की समीक्षा करने की बात करती है और नीतीश कुमार ‘घुड़की’ मारकर बैठे हुए हैं। नीतीश आरक्षण विरोधी आदमी हैं।

आपको बता दें कि पूर्व विधानसभा अध्यक्ष उदय नारायण चौधरी और पूर्व मंत्री श्याम रजक ने दो दिन पूर्व एक संवाददाता सम्मेलन में कहा था कि वंचित समाज को मुख्य धारा में लाने का डॉ। भीमराव अंबेडकर और महात्मा गांधी का जो सपना था, वह देश की आजादी के सात दशक बाद भी पूरा नहीं सका है।

दोनों नेताओं ने कहा कि वंचित समाज आज भी कूड़े के ढेर से अनाज चुनकर पेट की भूख मिटा रहा है। उन्होंने कहा कि आज भी इन लोगों को आरक्षण का सही लाभ नहीं मिल सका है। इसके बाद जद (यू) के प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह ने कड़े तेवर दिखाते हुए कहा है कि किसी भी नेता को अगर कोई परेशानी हो तो उसे पार्टी फोरम में अपनी बात रखनी चाहिए।

loading...
शेयर करें