बहुचर्चित चारा घोटाला मामले में Lalu Yadav को मिली जमानत, बेटे ने लगाई गुहार

दुमका कोषागर से अवैध निकासी के मामले में आज उनकी रांची हाईकोर्ट ने शर्तों के साथ राजद सुप्रीमो और पूर्व मुख्यमंत्री लालू यादव (Lalu Yadav) को जमानत दे दी है।

बिहार: बहुचर्चित चारा घोटाले मामलें में सजा काट रहे आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव (Lalu Yadav) को बड़ी राहत मिली है। दुमका कोषागर से अवैध निकासी के मामले में आज उनकी रांची हाईकोर्ट ने शर्तों के साथ राजद सुप्रीमो और पूर्व मुख्यमंत्री लालू यादव (Lalu Yadav) को जमानत दे दी है। हालांकि, लालू यादव को जेल से बाहर आने में अभी 1-2 दिनों का वक्त लग सकता है। कोविड संक्रमण के नियम के चलते उन्हें जेल से निकलने में कुछ देरी हो सकती है।

कोर्ट ने दी अनुमती

बेल बॉन्ड भरने के बाद जेल से बाहर आने की प्रक्रिया शुरू होगी। यह मामला 9 अप्रैल को से सूचीबद्ध था। लेकिन सीबीआई (CBI) ने जवाब दाखिल करने के लिए अदालत से समय की  मांग की गई थी। कोर्ट अब जेल से बाहर निकलने की अनुमती दे दी है। आपको बता दें, फिलहाल लालू यादव का दिल्ली के अम्स में इलाज चल रहा है। कोविड संक्रमण के नियम का पालन करते हुए उन्हें बाहर निकलने में कुछ देर हो सकता है। बेल बॉन्ड भरने के बाद जेल से बाहर आने की प्रक्रिया शुरू होगी।

Lalu Yadav पर लगे आरोप

आपको बता दें, लालू प्रसाद यादव को दुमका कोषागार से 3 करोड़ रूपये से ज्यादा की अवैध निकासी मामले से पहले लालू यादव को चाईबासा और देवघर मामले में पहले ही जमानत दी जा चुकी है। दुमका कोषागार से अवैध निकासी के मामले में लालू यादव की जमानत याचिका पर इससे पहले भी कई सुनवाई हो चुकी है, लेकिन उन्हें कोर्ट से कोई राहत नहीं मिल पाई थी। इस मामले में सीबीआई की जांच के बाद अदालत ने लालू यादव को सात- सात साल की सजा दो अलग अलग धाराओं में सुनायी थी।

बेटे ने लगाई गुहार

पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद ने दावा किया था कि वह आधी सजा पूरी कर चुके हैं। वहीं सीबीआई का दावा था कि लालू यादव की आधी सजा अभी पूरी नहीं हुई है। गौरतलब है कि बीते दिनों पिता लालू यादव की रिहाई के लिए बेटी रोहिनी आचार्य के रोजा रखने की खबर आई। रोहिनी आचार्य ने सोशल मीडिया के जरिये कहा था कि रमजान के महीने में वह अपने पिता की रिहाई के लिए रोजा रखेंगी। इसके बाद लालू के बड़े बेटे तेजप्रताप यादव ने पिता की जल्द से जल्द जमानत के लिए मां देवी दूर्गा से गुहार लगाई है। तेज प्रताप ने पिता के लिए नवरात्र के मौके पर देवी पूजा शुरू कर दी थी।

यह भी पढ़ें

इसके अलावा लालू के छोटे बेटे और बिहार के पूर्व डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव भी देवघर पहुंचे। बताया गया कि झारखंड में मधुपुर विधानसभा सीट पर हो रहे उपचुनाव में प्रचार के लिए पहुंचे तेजस्वी ने बाबाधाम में भगवान बैद्यनाथ के दर्शन कर पिता की रिहाई की कामना की।

 

Related Articles