नहीं ली जाएंगी श्वेत किसानों की जमीन: एमर्सन नांगाग्वा

जिम्बाब्वे। जिम्बाब्वे के राष्ट्रपति एमर्सन नांगाग्वा ने चुनावों से पहले नस्लीय एकता का आह्वान करते हुए कहा कि श्वेत किसानों से उनकी जमीन नहीं ली जाएगी। पूर्व राष्ट्रपति रॉबर्ट मुगाबे की सरकार ने श्वेतों के स्वामित्व वाले सैकड़ों खेतों को जब्त करने के फैसले का समर्थन किया था। उनकी सरकार ने पाया था कि मूल निवासियों से इन्हें गलत तरीके से लिया गया था।

75 वर्षीय नांगाग्वा ने हरारे में एक सभा में कहा कि यह विवादास्पद नीति अतीत की बात है। उन्होंने कहा, “हमें रंगों के आधार पर खेतों के स्वामित्व के बारे में बात करना बंद कर देना चाहिए।”

नांगाग्वा ने कहा, “इसके बारे में बात करना अपराध है। एक किसान, एक अश्वेत किसान, एक श्वेत किसान; सभी जिम्बाब्वे के किसान हैं।” उन्होंने ने यह बात 30 जुलाई को होने वाले ऐतिहासिक चुनाव के पहले श्वेत मतदाताओं की चिंताओं को खत्म करने के लिए कही है।

पिछले साल नवंबर में मुगाबे के सत्ता से बेदखल होने के बाद यह पहले राष्ट्रपति चुनाव होंगे। सत्ता से बाहर होने के साथ मुगाबे का 37 साल का शासन समाप्त हो गया था।

Related Articles