मेट्रो स्टेशनों पर बंदरों की समस्या से निपटेंगे लंगूर कटआउट, निकलेगी आवाज

लखनऊ: उत्तर प्रदेश का राज्य प्रशासन राजधानी लखनऊ में मेट्रो स्टेशनों पर बंदरों की समस्या को हल करने का प्रयास कर रहा है। अभी तक बंदर यात्रियों को डराते रहे हैं और कई स्टेशनों में प्रवेश करने से बचते हैं। इससे निपटने के लिए राज्य सरकार ने रणनीति तैयार की है। इसमें उन मेट्रो स्टेशनों में लंगूर की पोजिशनिंग कटआउट शामिल हैं जहां बंदरों का खतरा सबसे आम है।

एएनआई ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर फोटो के साथ विवरण साझा करते हुए बताया है कि, “लखनऊ मेट्रो ने बंदरों को डराने के लिए नौ मेट्रो स्टेशनों पर लंगूरों के कटआउट लगाए हैं, जो बंदरों के खतरे का सामना कर रहे हैं। बादशाह नगर मेट्रो स्टेशन के दृश्य।”

9 मेट्रो स्टेशनों पर लंगूरों के कटआउट

लखनऊ के 9 मेट्रो स्टेशनों पर लंगूरों के कटआउट हैं। एक अधिकारी के मुताबिक पहले सिर्फ लंगूरों के चीखने-चिल्लाने का ऑडियो ही चलाया जाता था। हालांकि, बंदरों को बाहर निकालने के लिए यह प्रभावी नहीं था। इसके बाद कटआउट लगाए गए।

कटआउट के साथ लंगूर की आवाज

अधिकारी के अनुसार, जब कटआउट के साथ लंगूर गरजने का ऑडियो प्रदर्शित किया जाता है, तो परिणाम स्पष्ट होता है। स्टेशन कंट्रोलर विवेक मिश्रा ने एएनआई को बताया, “शुरुआत में, हमने गुस्से में लंगूर की आवाजें बजाईं।”

प्रशासन ने चुना ये विकल्प

प्रशासन ने इन कटआउट को स्टेशन पर लगाने का विकल्प चुना। प्रभाव तब दिखाई दे रहा था जब कटिंग के साथ ध्वनियों को बजाया गया। कटआउट के प्लेसमेंट को नियमित आधार पर घुमाया जाता है।

Related Articles