सेना के ऑपरेशन आलआउट से बौखलाया लश्कर-ए-तैयबा, देने लगा गीदड़भभकी

0

नई दिल्ली: जम्मू कश्मीर में राज्यपाल शासन लागू होने के बाद आतंकियों के खिलाफ एक बार फिर ऑपरेशन आलआउट को एक बार फिर हरी झंडी मिल गई है। एक तरफ जहां सेना अपने ऑपरेशन आलआउट के तहत आतंकियों का सफाया करने में जुटी हैं, वहीं अब सेना को इन आतंकियों की गीदड़ भभकी भी मिलना शुरू हो गया है। दरअसल, मुंबई बम धमाके की घटना को अंजाम देने वाले आतंकी संगठन लश्कर-ए तैयबा ने कश्मीर में तैनात सुरक्षाबलों को धमकी देते हुए कहा है कि साल 2018 भारतीय सुरक्षाबलों के लिए ठीक नहीं है।

इस धमकी लश्कर की कश्मीर आधारित ऑनलाइन मैग्जीन Wyeth के माध्यम से दी गई है जिसकें लश्कर के प्रवक्ता डॉ अब्दुल्ला गजनवी ने इंटरव्यू देते हुए सुरक्षाबलों के खिलाफ आग उगला है। उन्होंने अपने इस इंटरव्यू में कहा है कि लश्कर-ए-तैयबा आम आदमी का संघर्ष है और संगठन जम्मू-कश्मीर की अवाम की सोच का प्रतिनिधित्व करता है।

आतंकी संगठन के इस प्रवक्ता की ओर से यह भी कहा गया है कि साल 2018 कश्मीर घाटी में भारतीय सुरक्षाबलों के लिए मुश्किल होने वाला है। लश्कर प्रवक्ता गजनवी ने एक बार फिर कश्मीर के हालात पर अपना समर्थन दिया। गजनवी ने कहा कि पाकिस्तान में कश्मीर के ‘संघर्ष’ का समर्थन करने के लिए ‘नैतिक और कानूनी’ दायित्व है, जो विभाजन का एक ‘अधूरा’ एजेंडा है।

आपको बता दें कि रमजान का पाक महीना खत्म होने के बाद ही जम्मू-कश्मीर में सेना के ऑपरेशन आलआउट को हरी झंडी दे दी गई है। सेना ने पिछले वर्ष भी ऑपरेशन आलआउट किया था। अपने इस औपेशन के तहत सेना ने कई आतंकियों को ढेर भी किया था। बीते शुक्रवार सुबह दक्षिण कश्मीर के अनंतनाग में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ हुई। इलाके में कई घंटे चली मुठभेड़ में 4 आतंकी मारे गए। इससे पहले गुरुवार को भी सेना ने पुलवामा के त्राल में 3 आतंकियों को मार गिराया था।

loading...
शेयर करें