लखनऊ के डिफेन्स एक्सपो का आज एयर शो के साथ अंतिम दिन

लखनऊ:डिफेंस एक्सपो में एयर शो के साथ ही आज इसका अंतिम दिन है जिसका लुत्फ उठाने का आज अंतिम मौका रविवार को है। वृंदावन में सिर्फ दोपहर में ही एयर शो होगा, वहीं गोमती रिवर फ्रंट पर सुबह लाइव डिमॉन्सट्रेशन किया जाएगा। पांच फरवरी से शुरू हुआ 11वां डिफेंस एक्सपो रविवार को संपन्न हो रहा है।

एक्सपो का आधिकारिक समापन शनिवार को रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की उपस्थिति में हो गया है। लेकिन दर्शकों के लिए रविवार को भी एक्सपो में जाने का मौका रहेगा। दर्शकों की एंट्री निशुल्क होगी। आईडी कार्ड साथ ले जाना अनिवार्य रहेगा।
https://puridunia.com/restrictions-imposed-on-travelers-coming-from-china-in-india-as-well-corona-virus/439914/
रविवार को वृंदावन सेक्टर-15 में एयरफोर्स व आर्मी की ओर से लाइव डिमॉन्सट्रेशन हुआ, जो दोपहर 12 बजे से 12.45 बजे तक चलेगा। शो देखने वालों को दो घंटे पहले एक्सपो में पहुंचना होगा। वहीं गोमती रिवर फ्रंट पर नौसेना का लाइव डिमॉन्सट्रेशन सुबह 11 बजे से दोपहर एक बजे तक चलेगा।

इसके अतिरिक्त वृंदावन में दर्शकों को आर्मी के टैंक, डीआरडीओ द्वारा विकसित एंटी सेटेलाइट मिसाइल, अश्विन एयर डिफेंस सिस्टम, अर्जुन टैंक, आकाश मिसाइल सहित सेल्फी प्वॉइंट पर तस्वीरें खिंचवाने का अवसर मिलेगा। देसी व विदेशी कंपनियों के स्टॉल करीब-करीब हट चुके हैं, इसलिए एचएएल व डीआरडीओ के स्टॉलों पर ही उन्हें जानकारियां मिल सकेंगी।

शनिवार को रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि डिफेंस एक्सपो भविष्य के भारत का शंखनाद रहा। डिफेंस एक्सपो ने पूरी दुनिया को दिखा दिया कि नया भारत रक्षा के क्षेत्र में सशक्त, समृद्ध और समर्थ ही नहीं हुआ है, बल्कि विश्व की शक्तियों से कदम से कदम मिलाकर आगे बढ़ने को तैयार है। वह दिन दूर नहीं जब हमारा देश रक्षा निर्माण के क्षेत्र में विश्व का बड़ा केंद्र बनेगा।

भारतीय रक्षा उत्पादन की दृष्टि से यह एक्सपो मील का पत्थर साबित हुआ है। इसने जनता की भागीदारी, पीपीपी और अंतरराष्ट्रीय समन्वय के हर रिकॉर्ड को तोड़ दिया है। उन्होंने कहा कि यहां 200 से अधिक एमओयू हुए। यहां केएमओयू ने इतिहास रचा है।

इसका सबसे अधिक फायदा यूपी को हुआ। 3000 से अधिक विदेशी प्रतिभागी आए। यह साबित करता है कि दुनिया की भारत को लेकर क्या सोच है। 12 लाख से अधिक लोगों ने यहां भ्रमण किया। यह हमारी दूरदर्शी व प्रगतिशील नीति व सोच से संभव हुआ है। इस एक्सपो ने दुनिया पर अपनी अलग ही चाप छोड़ी है।

Related Articles