मध्यप्रदेश में लव जिहाद पर कानून, पांच साल की सजा का प्रावधान

गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा, ‘विधानसभा सत्र में लव जिहाद के खिलाफ कानून लाया जाएगा’

मध्यप्रदेश: गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा, सरकार जल्द ही लव जिहाद को लेकर कानून लाने वाली है। अगले  विधानसभा सत्र में लव जिहाद के खिलाफ कानून लाया जाएगा। इस कानून के तहत पांच साल की सजा का प्रावधान होगा।

गैर-जमानती अपराध

लव जिहाद के खिलाफ यह कानून गैर-जमानती अपराध होगा और इसमें पांच साल की सजा का प्रावधान होगा। इससे पहले योगी सरकार पहले ही लव जिहाद पर कानून बनाने की बात कह चुकी है।

फ्रीडम ऑफ रिलिजन बिल

गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा, ‘मध्यप्रदेश फ्रीडम ऑफ रिलिजन बिल 2020′ को विधानसभा में पेश करने की तैयारी की जा रही है। इस कानून में पांच साल की सजा का प्रावधान होगा। हम यह भी प्रस्ताव कर रहे हैं कि ऐसे अपराधों को संज्ञेय और गैर-जमानती अपराध घोषित किया जाए।

‘धर्म स्वातंत्र्य कानून’

गृह मंत्री ने कहा, आगामी विधानसभा सत्र मुख्य होने वाला है, क्योंकि राज्य सरकार लव जिहाद को लेकर ‘धर्म स्वातंत्र्य कानून’ के लिए विधेयक पेश करेगी। विधेयक के कानून बनने के बाद आरोपी पर गैर जमानती धाराओं के तहत पांच साल की सजा दर्ज की जाएगी।

लव जिहाद के अपराध में सहयोग

नरोत्तम मिश्रा ने कहा, लव जिहाद के अपराध में सहयोग करने वाले को भी मुख्य आरोपी की तरह सजा का प्रावधान होगा। इसके अलावा, शादी के लिए जबरन धर्मांतरण कराने वालों को भी सजा देने का प्रावधान किया जाएगा।

स्वेच्छा से धर्म परिवर्तन

गृह मंत्री ने बोला, अगर कोई स्वेच्छा से धर्म परिवर्तन कर शादी करना चाहता है, तो उसे एक माह पहले कलेक्टर कार्यालय में इस संबंध में आवेदन देना होगा। गृह मंत्री ने कहा, इस कानून के आने के बाद किसी से जोर जबरदस्ती द्वारा की गई शादी, धोखे से की गई शादी को रद्द माना जाएगा।

यह भी पढ़े:बिहार में महिला को जिंदा जलाने वाला गिरफ्तार, हाजीपुर में 17 दिन पहले दिया था वारदात को अंजाम

यह भी पढ़े:भोजपुरिया सुपरस्टार अक्षरा सिंह का नया छठ स्पेशल गाना रिलीज़, इंस्टाग्राम पर दी जानकारी

Related Articles

Back to top button