मथुरा में वकील लगातार दूसरे दिन भी हड़ताल पर, क्लेम कोर्ट में कार्य करने से इंकार

एसोसिएसन मथुरा के जिला अध्यक्ष सुशील शर्मा ने मुख्य न्यायाधीश हाईकोर्ट प्रयागराज को पत्र भेजकर क्लेम फोरम के अधिवक्ताओं की परेशानी से अवगत कराया है।

मथुरा: उत्तर प्रदेश के मथुरा जिले में क्लेम फोरम के सदस्य वकीलों ने शुक्रवार को दूसरे दिन मोटर दुर्घटना क्लेम ट्रिब्यूनल कोर्ट का बहिष्कार किया। क्लेम फोरम के सचिव ओमवीर सिंह एडवोकेट ने बताया कि मोटर एक्सीडेंट क्लेम ट्रिब्यूनल कोर्ट जिला न्यायालय से दो किलोमीटर दूर एक कॉलेज में बनाए जाने के विरोध में गुरुवार सेे अधिवक्ता न्यायिक कार्य से विरक्त हैं। सभी अधिवक्ताओं ने नई जगह पर बने क्लेम कोर्ट में कार्य करने से इंकार कर दिया है। आज अधिवक्ताओं ने धरना देकर विरोध प्रकट किया।

उधर बार एसोसिएसन मथुरा के जिला अध्यक्ष सुशील शर्मा ने मुख्य न्यायाधीश हाईकोर्ट प्रयागराज को पत्र भेजकर क्लेम फोरम के अधिवक्ताओं की परेशानी से अवगत कराते हुए उनसे अनुरोध किया है कि मोटर एक्सीडेंट क्लेम ट्रिब्यूनल कोर्ट को जनपद न्यायालय परिसर में ही बना रहने दिया जाय या यदि यह संभव न हो तो कलेक्टरेट में खाली पड़े आधा दर्जन से अधिक कोर्ट रूम में इस अदालत को स्थापित किया जा सकता है।

पत्र में लिखा गया है कि इस अदालत में वकालत करनेवाले कई अधिवक्ता फौजदारी, रेवेन्यू, फेमिली, एनआई अदालतेंा में प्रैक्टिस करते है ट्रिब्यूनल कोर्ट के दूर बनाने से उन्हें तथा वादकारियों को बहुत अधिक असुविधा होगी। पत्र की प्रतिलिपि प्रमुख सचिव विधि, प्रमुख सचिव परिवहन एवं जिला न्यायाधीश को भी भेजी गई है।

यह भी पढ़ें- कोटा जिले में जारी आदेश, आज से 20 जनवरी तक धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा लागू

Related Articles

Back to top button