होने वाले सूर्य ग्रहण में जानें सूतक काल और इसका भारत में प्रभाव

Surya Grahan 2019: इस वर्ष सूर्य ग्रहण 2 जुलाई 2019 दिन मंगलवार को लग रहा है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, इस दिन गर्भवती महिलाओं को विशेष सावधानी बरतने की जरूरत होती है। सूर्य ग्रहण से उनके कुंडली में ग्रह दोष के कारण उनके और बच्चे के स्वास्थ्य पर प्रतिकूल असर पड़ने की आशंका रहती है। हालांकि इस सूर्य ग्रहण से ऐसी आशंका नहीं है क्योंकि यह सूर्य ग्रहण भारत में नहीं दिखाई देगा।

सूर्य ग्रहण का समय काल

भारतीय मानक समयानुसार, ग्रहण का प्रारम्भ रात्रि में 10 बजकर 25 मिनट पर, ग्रहण काल मध्य रात्रि 12 बजकर 53 मिनट पर तथा ग्रहण से मोक्ष रात्रि 3 बजकर 21 मिनट पर होगा।

भारत में नहीं लगेगा सूर्य ग्रहण का सूतक

यह सूर्य ग्रहण भारत में नजर नहीं आएगा, यह दक्षिण अमेरिका, दक्षिण मध्य अमेरिका तथा प्रशान्त महासागर में दिखाई देगा। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, सूर्य ग्रहण जिस स्थान पर दिखाई देता है, वहीं पर ग्रहण का धर्म शास्त्रीय महत्व होता है। जिस जगह पर सूर्य ग्रहण दिखाई नहीं देता है, वहां पर ग्रहण का सूतक नहीं लगता है।

इस कारण लगता है सूर्य ग्रहण

सूर्य ग्रहण को हिन्दू धर्म में काफी महत्वपूर्ण माना गया है। यह सूर्य, पृथ्वी और चंद्रमा से जुड़ी घटना है। सूर्य ग्रहण के समय चंद्रमा सूर्य और पृथ्वी के बीच में आ जाता है, जिस कारण से सूर्य की रोशनी पृथ्वी पर नहीं आती हैं। चंद्रमा के कारण सूर्य ढक जाता है, उस घटना को सूर्य ग्रहण कहते हैं।

— ज्योतिषाचार्य पं गणेश प्रसाद मिश्र

Related Articles