IPL
IPL

जानें कैसे चमकने लगा विश्व में Hindustan का नाम, इस वैज्ञानिक ने रचा था आज का इतिहास

राकेश शर्मा का नाम आज भी किसी भारतीय के दिल से नहीं गया है। वह पहले भारतीय विंग कमांडर थे। जिसने Hindustan की तरफ से अंतरिक्ष में पैर रखा था।

नई दिल्ली: रिटायर्ड विंग कमांडर राकेश शर्मा का नाम आज भी किसी भारतीय के दिल से नहीं गया है। उन्होनें काम ही कुछ ऐसा किया था कि आज तक वो हर किसी के दिल में अपनी जगह बनाए हुए है। राकेश कुमार पहले भारतीय विंग कमांडर थे। जिसने Hindustan की तरफ से अंतरिक्ष में पैर रखा था। अप्रैल 1984 को जब वह अंतरिक्ष में पहुंचे तो उनके साथ ही भारत का नाम भी दुनिया में एक नई वजह से चमकने लगा।

Hindustan के महत्‍वाकांक्षी मिशन के लिए चुना

विंग कमांडर राकेश के उस यात्रा को 36 साल पूरे हो गए हैं। 13 जनवरी 1949 को पटियाला में जन्‍में विंग कमांडर राकेश शर्मा जुलाई 1966 में National Defence Academy पहुंचे। सन् 1970 में वो बतौर Fighter Pilot उन्‍हें Indian Air Force में जुड़े। सन् 1984 में वह स्‍क्‍वाड्रन लीडर (Squadron leader) की रैंक पर थे जब उन्‍हें एक महत्‍वाकांक्षी मिशन के लिए चुना गया था। 20 सितंबर 1982 को उनका चयन अंतरिक्ष में जाने के लिए किया गया था।

राकेश कुमार
राकेश कुमार

विंग कमांडर राकेश IAF और सोवियत संघ के बीच चलाए गए संयुक्‍त अंतरिक्ष प्रोग्राम के लिए चुने गए थे।अप्रैल 1984 में रूस के बाइकोनौर से सोयुज टी-11 (Soyuz T-11) रॉकेट लॉन्‍च हुआ और इसके साथ ही वो अंतरिक्ष में पहुंचने वाले पहले भारतीय बन गए। उनके साथ इस मिशन में सोवियत संघ के अंतरिक्ष यात्री भी शामिल थे। आपको बता दें, विंग कमांडर राकेश शर्मा ने 7 दिन, 21 घंटे और 40 मिनट अंतरिक्ष में बिताए थे।

राकेश शर्मा से प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने पूछा था

क्रू ने मॉस्‍को में एक ज्‍वॉइन्‍ट न्‍यूज कॉन्‍फ्रेंस की थी। इसी कॉन्‍फ्रेंस के दौरान तत्‍कालीन भारतीय प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने उनसे पूछा था, ‘अंतरिक्ष से भारत कैसा दिखता है?’ उस वक्त विंग कमांडर राकेश ने कहा था, ‘सारे जहां से अच्‍छा हिन्‍दुस्‍तान हमारा।’

यह भी पढ़े

उनका यह जवाब आज भी एक एतिहासिक जवाब माना जाता है। राकेश शर्मा के साथ ही भारत दुनिया का 14वां देश बन गया जिसका कोई नागरिक अंतरिक्ष पहुंचा था। विंग कमांडर राकेश शर्मा को उनके सफल मिशन के लिए अशोक चक्र से सम्‍मानित किया गया था।

Related Articles

Back to top button