Hyperinflation की कगार पर लेबनान, करेंसी डूबी, जान के पड़े लाले!

बेरुत : अफ़ग़ानिस्तान की बर्बादी के मातम के बीच एक बुरी खबर आई है। इस कड़ी में आपकी जानकारी के लिए बता दें कि फ्यूल की कमी और पावर कट से जूझता देश Hyperinflation की कगार पर खड़ा है। इस कड़ी में लेबनीज़ प्रेजिडेंट मिचेल ऑन ने कहा की जल्द नई सरकार का गठन किया जायेगा। इस कड़ी में आपकी जानकारी के लिए बता दें की फ्यूल क्राइसिस की वजह से देश में अफरातफरी मच गई है और अराजकता का माहौल है।

Hyperinflation की वजह से 90 % घट गई करेंसी

इस कड़ी में आपकी जानकारी के लिए बता दें इस फ्यूल की कमी के कारण जल्दी ही अस्पताल बंद करना पड़ सकता है। इसकी वजह से कई बीमार लोगों की जान भी जा सकती है। इस दौरान भ्रस्टाचारी सरकार के बदौलत आज लेबनान आर्थिक संकट से जूझ रहा है। आर्थिक संकट की वजह से देश पंगु हो चुका है।

पिछले दो साल लेबनान का टाइम काफी ख़राब है। चाहे वह पोर्ट पर हुआ धमाका हो ये पिछले हफ्ते हुआ फ्यूल टैंकर विस्फोट जिस में कम से कम 28 लोगों की मौत हो गई थी। यह लोग फ्यूल लेने की होड़ में लगे थे, लेकिन तभी धमाका हो गया।  इस कड़ी में राष्ट्रपति से मिलने के बाद  प्रधानमंत्री नजीब मिकाती ने कहा कि मुमकिन है कि अगले एक दो दिनों में सरकार का गठन कर दिया जाएगा। मिकाती ने कहा कि सरकार बनने के बाद इन सभी समस्याओं को हल किया जा सकता है । लेबनान पिछले कई साल से भ्रष्टाचार और मिसमैनेजमेंट से जूझ रहा है। पिछले हफ्ते यह संकट तब और बढ़ गया जब लेबनान के सेंट्रल बैंक ने कहा कि उसके पास अब फ्यूल खरीदने के लिए पैसा नहीं है।

यह भी पढ़ें : New zealand में कोरोना पेशेंट मिलने के बाद लगा लॉकडाउन

 

 

Related Articles