यूपी में एलईडी बल्ब पर जल्द ही VAT माफ

618_348_the-led-bulb-advantage

लखनऊ। प्रदेश में एलईडी बल्ब को शीघ्र वैट मुक्त किया जाएगा। सीएम अखिलेश यादव ने बाजार में बिकने वाले एलईडी बल्ब पर वैट को समाप्त करने की घोषणा की है। बिजली की खपत को कम करने में एलईडी बल्ब की महत्वपूर्ण भूमिका है। इसके मद्देनजर इनका व्यापक तौर पर प्रयोग किया जाना जरूरी है। यह जानकारी आज देते हुए राज्य सरकार के प्रवक्ता ने बताया कि बिजली उपभोक्ताओं को ज्यादा से ज्यादाएलईडी बल्ब के इस्तेमाल के लिए प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से मुख्यमंत्री ने विश्व ऊर्जा संरक्षण दिवस पर यह निर्णय लिया है।

क्या है एलईडी बल्ब

एलईडी का पूरा नाम “लाइट-एमिटिंग डायोड” है। जो कि एक सफेद रंग का बल्ब होता है। एलईडी बल्ब काफी लंबे वक्त तक चलता है और बिजली की कम खपत करता है। यह अन्य बल्ब्स की तुलना में कई गुना बेहतर और सक्षम होता है। एलईडी बल्ब बहुत अच्छी रोशनी देते हैं और इन्हें जलने में ट्यूबलाइट जैसे वक्त नहीं लगता है।

एलईडी बल्ब की कीमत थोड़ी ज्यादा होती है लेकिन इससे आपका बिजली का बिल बहुत कम आता है। यह अन्य सामान्य बल्ब और सीएफएल लाइट्स की तरह बार-बार ऑन-ऑफ करने पर फ्यूज नहीं होता है। साथ ही ज्यादातर एलईडी बल्ब वारंटी के साथ आते हैं।

क्या है एलईडी बल्ब के फायदे

1. लॉन्ग टर्म कॉस्ट- एलईडी बल्ब सामान्य बल्बों की तुलना में महंगा आता है लेकिन यह बिजली की बहुत करते हैं और लॉन्ग टर्म में आपके बिल को कम कर देते हैं।

2. टाइम पीरियड- जहां सामान्य बल्ब 1500 घंटे और सीएफएल, ट्यूबलाइट 10,000 घंटे चलती है, वहीं एलईडी बल्ब 60,000 घंटे तक चल सकता है।

3. तुरंत जलना- एलईडी बल्ब स्विच ऑन करते ही तुरंत जल जाता है, वहीं ट्यूबलाइट स्थिर होने से पहले 1-2 बार फ्लक्च्यूएट होती है।

4. बिजली की कम खपत- एलईडी बल्ब सामान्य बल्बों और ट्यूबलाइट की तुलना में कम बिजली खपत करते हैं। बिजली की कम खपत पर्यावरण के साथ-साथ आपकी जेब के लिए भी अच्छी है।

5. जोखिम- सामान्य बल्ब और ट्यूबलाइट ज्यादा गर्मी जनरेट करते हैं जबकि एल.ई.डी. बल्ब हल्के गर्म होते हैं और इनसे आग लगने का शॉर्ट सर्किट होने की जोखिम कम होती है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button