विधायक आरिफ मसूद के अवैध निर्माण ध्वस्त, धार्मिक भावना आहत करने का दर्ज था मुकदमा

अभी कुछ दिनों पहले आरिफ मसूद ने फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रो के दिए गए बयान के खिलाफ प्रदर्शन किया था।

भोपाल: भोपाल में कांग्रेस के विधायक आरिफ मसूद के चार अवैध निर्माण को भोपाल नगर निगम ने गिरा दिया है। अभी कुछ दिनों पहले आरिफ मसूद ने फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रो के दिए गए बयान के खिलाफ प्रदर्शन किया था।

भोपाल नगर निगम ने आरिफ मसूद के इंदिरा प्रियदर्शनी कॉलेज के अवैध निर्माण को तोड़ दिया है। कांग्रेस विधायक आरिफ मसूद के खिलाफ कुछ समय पहले धार्मिक भावना आहत करने के कारण केस भी दर्ज किया गया था।

तालाब के 50 मीटर दायरे के अन्दर थी विधायक की अवैध बिल्डिंग

गुरूवार को नगर निगम ने खानू गांव में तालाब के पास नयी बनायी गयी बिल्डिंगों के ऊपर कार्यवाई करनी शुरू कर दी। यह सारी बिल्डिंग तालाब के कैचमेंट एरिया में आते हैं।

नगर निगम ने जिन बिल्डिं.गों पर कार्यवाई की है वो सब तालाब के 50 मीटर दायरे के अन्दर आती हैं। भोपाल नगर निगम का कहना है कि कांग्रेस विधायक की चार बिल्डिंग 50 मीटर दायरे के अन्दर आते हैं इसलिए उन पर कार्यवाई की गई है।

विधायक मसूद बोले, बिल्डिंगों को गिराना असंवैधानिक

आरिफ मसूद ने इस कार्यवाई को असंवैधानिक बताया है। उन्होनें कहा कि 2005 के बाद से ही किसी भी बिल्डिंग को गिराने पर रोक लगा दिया गया था। सरकार ने यह सब बदले की भावना से किया है और हम इस मामले को सही मंच पर ले जाएंगे। आरिफ मसूद ने कहा कि वो छात्रों की पढ़ाई किसी भी हालत में रूकने नही देंगे।

अपनी बात में कांग्रेस विधायक ने कहा कि फ्रांस के राष्ट्रपति के बयान के बाद उन के खिलाफ प्रदर्शन करना हमारा संवैधानिक अधिकार है जिसे हमने शांतिपूर्ण तरीके से किया था।

प्रदर्शन में नही हुआ कोविड-19 नियमों का पालन

गौरततलब है कि आरिफ मसूद के खिलाफ पहले से ही केस दर्ज किया गया है। 29 अक्टूबर को भोपाल के इकबाल मैदान में फ्रांस के राष्ट्रपति के खिलाफ प्रदर्शन किया गया था जहां पर सोशल डिस्टेंशिंग और मास्क लगाने जैसी चीजों को पूरी तरह से नजरअंदाज किया गया था। इस प्रदर्शन में हजारों की मात्रा में भीड़ इकट्ठा हुई थी।

इकबाल मैदान में हुए प्रदर्शन के बाद आरिफ मसूद सहित 200 लोगों पर इंडियन पिनल कोड(आईपीसी) की धारा 153 के तहत धार्मिक भावना को ठेस पहुंचाने के कारण मुकदमा दर्ज किया गया था।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने दी थी सख्त चेतावनी

भोपाल में इस प्रदर्शन के खिलाफ मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और राज्य गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने यह स्पष्ट कर दिया था कि ऐसा करने वालों पर सख्त कार्यवाई की जाएगी। आरिफ मसूद के प्रदर्शन के द्वारा किये गए प्रदर्शन के बाद से ही राजनीति में सियासी घमासान मचा हुआ है।

ये भी पढ़ें : इटावा में कोरोना संक्रमित महिला ने तीसरी मंजिल से कूदकर की आत्महत्या

Related Articles

Back to top button