भ्रष्टाचार के आरोपों में घिरे योगी के विधायक, लगा लाखों रुपए गबन करने का आरोप

मेरठ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को अपना पद संभाले अभी दो साल भी पूरे नहीं हुए हैं कि उनके विधायकों पर भ्रष्टाचार के आरोपों की तलवार लटकने लगी है। दरसअल, हमेशा अलग अलग तरह के विवादों में घिरे रहने वाले सरधना सीट के विधायक बीजेपी विधायक संगीत सोम अब भ्रष्टाचार के आरोपों में घिरते नजर आ रहे हैं। यह आरोप किसी दल ने नहीं बल्कि एक ठेकेदार ने लगाया है।

मिली जानकारी के अनुसार, ठेकेदार ने संगीत सोम पर आरोप लगाया है कि उन्होंने सरकारी ठेका दिलाने के नाम पर 43 लाख रुपए की रिश्वत मांगी है। संजय प्रधान नाम के इस ठेकेदार का आरोप है कि संगीत सोम की मांग पर उन्होंने रिश्वत दी भी लेकिन इसके बावजूद न उन्हें ठेका मिला और न ही उनकी रकम वापस की गई। पुलिस ने पीड़ित ठेकेदार की तहरीर पर जांच शुरू कर दी है।

ठेकेदार संजय प्रधान ने शनिवार की रात एसएसपी कार्यालय में जाकर संगीत सोम के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई। अपनी शिकायत में उन्होंने बताया कि वह पीडब्ल्यूडी और अन्य विभाग में ठेकेदारी का काम करते हैं। मेरठ के दादरी में सरकारी कॉलेज बनाने का ठेका दिलाने के एवज में विधायक संगीत सोम ने उनसे 43 लाख रुपये की मांग की थी।

संजय प्रधान के मुताबिक, यह रकम तीन किश्तों में दी गई। प्रधान का आरोप है कि संगीत सोम ने उन्हें खुद फोन करके पैसे मांगे थे, लेकिन पैसे देने के बावजूद उन्हें ठेका नहीं मिला। वह कहते हैं कि जब उन्होंने अपनी रकम वापस मांगी, तो विधायक के गुर्गों ने उन्हें टकराना शुरू कर दिया।

ठेकेदार संजय बीजेपी के विधायक संगीत सोम के खिलाफ शिकायत लेकर एसएसपी आवास पहुंच गया। एसएसपी ने भ्रष्टाचार के इस मामले को गंभीरता से लेते हुए मामले की जांच करने के निर्देश दे दिए हैं। इस मामले की जांच खुद एसपी देहात राजेश कुमार करेंगे। जिसके बाद अगर इस शिकायत में तथ्य पाए गए तो मुकदमा दर्ज करके कार्रवाई भी होगी।

Related Articles