तेंदुए का शिकार बनी 10 साल की नाबालिक बच्ची ,जंगल से मिला क्षत विक्षत शव

बरेली: उत्तर प्रदेश के बरेली जिले के ग्रामीण क्षेत्र में कॉपी किताब खरीदने दुकान जा रही 10 साल की नाबालिक बच्ची को सोमवार को तेंदुआ उठाकर ले गया था. बच्ची का क्षत विक्षत शव जंगल से बरामद हुआ है. एक अधिकारी ने जानकारी दी है, कि ग्रामीणों के साथ पुलिस काफी देर रात तक जंगल में 10 साल की बच्ची को तलाशती रही लेकिन कामयाबी हाशिल नहीं हुई. अगले दिन यानि मंगलवार सुबह जब गाँव वालों ने जंगल की सघन तलाशी की तब उन्हें बच्ची का शव बरामद हुआ.

तेंदुआ

नाबालिक बच्ची गयी थी कॉपी किताब लेने:

बरेली के उप जिलाधिकारी बहेड़ी राजेश चंद्र ने बताया कि शीशगढ़ के गाँव भुजिया में रहने वाले बबलू की बेटी जिसका नाम उपासना था वह दुकान से कॉपी किताब लेने के लिए गयी थी. जब आधे घंटे तक घर वापस नहीं आयी तो घरवालों ने उसकी तलाश शुरू की. उन्होंने बताया कि बाद में गाँव वालों ने पुलिस की मदद से बच्ची की तलाश जारी की, लेकिन काफी देर रात तक उसका पता नहीं चल पाया. जब मंगलवार की सुबह गांव वालों ने जंगल की सघन तलाशी की तो बच्ची का शव बरामद कर लिया.

जानकारी दी जा चुकी थी:

आप को बता दे कि मुख्य वन संरक्षक ललित वर्मा ने यह बताया कि वन विभाग ने इलाके में तेंदुए होने की जानकारी कुछ दिन पहले दी थी,लेकिन गाँव वालो ने इस बात को गंभीरता से नहीं लिया, उन्होंने कहा इसकी पूर्णतयः जांच की जायेगी और कर्मियों के खिलाफ कार्रवाई होगी.

यह भी पढ़े: इस महीने में 15 दिन बंद रहेंगे बैंक, जल्द निपटा लें बैंक से संबंधित काम

Related Articles