आईये जानते है माँ चंद्रघंटा कैसे करें प्रसन्न

0

 मां चंद्रघंटा की पूजा होती है नवरात्रि के तीसरे दिन .इस वर्ष चैत्र नवरात्रि 6 अप्रैल से 14 अप्रैल तक ही होगी , मां चंद्रघंटा की पूजा  8 अप्रैल को  यानि आज होगी . इन पूरे नौ दिनों में हर दिन मां दुर्गा के अलग-अलग रूपों की पूजा होगी. यह हिन्दू धर्म का प्रमुख त्योहार मानाजाता है. माता की पूजा के अलावा चैत्र नवरात्रि के नौवें दिन को राम जी के जन्मदिन के तौर पर मनाया जाता है. इसे राम नवमी भी कहते हैं. चैत्र नवरात्रि को राम नवमी के नाम से भी जाना जाता है. यहां जानिए मां चंद्रघंटा के बारे में कुछ खास बातें.

माँ चंद्रघंटा दुर्गा माँ का ही स्वरूप हैं इनके के माथे पर घंटे के आकार का आधा चांद बना है, इस करण से इन्हें चंद्रघंटा कहते हैं. मां चंद्रघंटा का रूप सोने की तरह चमकीला होता है. दस हाथ होते हैं और सभी में शस्त्र और बाण पकड़े हुए दिखती हैं. सिंह इनकी सवारी होता है.  मां चंद्रघंटा को सुगंध अत्यंत प्रिये है इसलिए इनको प्रसन्न करने के लिए सुगंधित फूलो का चढ़ावा जरुर चढ़ाये

मां चंद्रघंटा को प्रसन्न करने के लिए पढ़े ये मंत्र

या देवी सर्वभू‍तेषु माँ चंद्रघंटा रूपेण संस्थिता।
नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नम:।।

लोगो का मानना है कि माँ चंद्रघंटा की पूजा-अर्चना करने से भक्तों के सभी कष्ट हमेशा के लिए दूर हो जाते हैं, और माँ चंद्रघंटा की कृपा सैदव बनी रहती है ..

 

loading...
शेयर करें