मर्सीडीज के लुईस हैमिल्टन ने फिर रचा इतिहास, माइकल शूमाकर के विश्व रिकॉर्ड की बराबरी की

मर्सिडीज के रेसर हैमिल्टन ने गीले और फिसलन भरे ट्रैक पर शानदार प्रदर्शन किया और अपने करियर की रिकॉर्ड 94वीं जीत हासिल की.

इस्तांबुल: ब्रिटेन के लुईस हैमिल्टन ने तुर्की ग्रां प्री में रविवार को शानदार जीत हासिल की और जर्मनी के लीजेंड माइकल शूमाकर के फार्मूला वन में सात विश्व खिताब के रिकॉर्ड की बराबरी कर ली. हैमिल्टन इसके साथ ही फार्मूला वन इतिहास के सबसे सफल रेसर बन गए.

मर्सिडीज के रेसर हैमिल्टन ने गीले और फिसलन भरे ट्रैक पर शानदार प्रदर्शन किया और अपने करियर की रिकॉर्ड 94वीं जीत हासिल की. उन्होंने इस सत्र में तीन रेस शेष रहते अपना विश्व खिताब सुनिश्चित कर लिया. फेरारी के लीजेंड रेसर शूमाकर के नाम सात विश्व खिताब हैं जिसकी अब हैमिल्टन ने बराबरी कर ली है. हैमिल्टन जर्मन रेसर के अधिकतर रिकॉर्ड तोड़ चुके हैं.

35 वर्षीय हैमिल्टन के करियर की यह 94वीं जीत है जबकि शूमाकर ने अपने करियर में 91 जीत हासिल की थी. हैमिल्टन ने 13 साल पहले अपनी पहली फॉर्मूला वन रेस जीती थी और वह अब शूमाकर के रिकॉर्ड की बराबरी पर आ गए हैं. हेमिल्टन के नाम सर्वाधिक रेस जीत, पोल पोजीशन और पोडियम फिनिश हैं.

हैमिल्टन ने अपने टीम साथी फ़िनलैंड के वाल्टेरी बोटस को 12 लैप शेष रहते पीछे छोड़ा और लगातार बढ़त बनाये रखते हुए जीत अपने नाम की. शूमाकर के सात विश्व रिकॉर्ड की बराबरी करने के बाद हेमिल्टन अपने आंसू नहीं रोक पाए. बोटास के लिए यह रेस निराशाजनक रही और वह 14वें स्थान पर रहे.

यह भी पढ़े: हिमाचल में बैडमिंडन अकादमी खोलना चाहती हैं स्टार बैडमिंटन खिलाड़ी सायना नेहवाल

Related Articles

Back to top button