उत्तराखंड में भारी बारिश से प्रभावित हुआ पहाड़ी से नीचे रहने वालों का जीवन

देहरादून: पहाड़ पर हो रही मानसूनी बारिश अब जनजीवन पर भारी पड़ रही है। बुधवार देर रात से शुरू हुई बारिश का सिलसिला बृहस्पतिवार को भी जारी रहा। वहीं शुक्रवार को राजधानी देहरादून में भी रुक-रुक कर बारिश होती रही। दोपहर ढाई बजे के बाद देहरादून में झमाझम बारिश शुरू हो गई। जिससे शहर के कई इलाकों में काफी जलभराव हो गया है। राजधानी के मुख्य क्षेत्र रेंजर्स ग्राउंड के पास भारी जलभराव हो गया। जिससे आने-जाने वाले लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ा। खासकर दुपहिया वाहन चालकों को गाड़ी चलाना मुश्किल हो गया।

मौसम विभाग ने अलर्ट जारी किया है कि उत्तराखंड के सात जिलों में अगले 24 घंटों के दौरान भारी बारिश हो सकती है। यह आशंका देखते हुए मौसम विभाग ने ऑरेंज अलर्ट जारी किया है। पिथौरागढ़ के बुंगाछीना अलगड़ा मोटर मार्ग मलबा आने से बंद हो गया है। शहीद जवाहर सिंह मोटर मार्ग भी बंद पड़ा है। जिन्हें शाम तक खोल दिया जाएगा।

आने जाने के मार्ग में हुई उत्पन्न बाधा

मौसम विभाग की ओर से जारी बुलेटिन के अनुसार राजधानी देहरादून समेत प्रदेश के सात जिलों में भारी से बहुत भारी बारिश होने की आशंका बनी हुई है। नैनीताल, चंपावत, पिथौरागढ़, ऊधमसिंह नगर, हरिद्वार और पौड़ी गढ़वाल में बारिश होने का अनुमान है। वहीं प्रदेश के अन्य जिलों में भी बारिश हो सकती है। मौसम केंद्र निदेशक बिक्रम सिंह ने बताया कि फिलहाल बारिश की संभावना लगातार बनी हुई है।
पहाड़ में मानसूनी बारिश अब जनजीवन पर भारी पड़ रही है। इससे राजमार्गों के अवरुद्ध होने के साथ ही कई स्थानों पर दूध, सब्जी, अखबार और अन्य जरूरी वस्तुओं की सप्लाई ठप रही। टिहरी जिले के घनसाली क्षेत्र में मूसलाधार बारिश से दोगडा गदेरे का मलबा और पानी कोठियाड़ा गांव के 18 घरों में घुसने से अफरातफरी मच गई। ग्रामीणों ने घरों से भागकर जान बचाई।
रुद्रप्रयाग जिले में भीरी और बांसवाड़ा के बीच पहाड़ी का बड़ा हिस्सा ढहने से रुद्रप्रयाग-गौरीकुंड हाईवे सात घंटे तक बंद रहा। उत्तरकाशी जिले में जगह-जगह हुए भूस्खलन से उत्तरकाशी-लंबगांव मोटर मार्ग के साथ ही गंगोत्री और यमुनोत्री हाईवे अवरुद्ध हो गए। गंगोत्री हाईवे बड़ेथी चुंगी मंगलवार देर रात से ही बंद पड़ा है। हालांकि मनेरा बाईपास से रूट डायवर्ट किए जाने से यहां यातायात सुचारु है। चमोली जिले में बारिश के चलते 12 संपर्क मोटर मार्ग बाधित हुए थे।

Related Articles