दुधवा में हमेशा के लिए सो गया ‘राजा’

lion-567b0263b696d_exl

लखीमपुर खीरी। उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी जिले में स्थित दुधवा राष्ट्रीय उद्यान के वन क्षेत्र में रविवार दोपहर एक बाघ का शव मिलने के बाद वन अधिकारियों में हड़कंप मच गया है। बाघ के शव की हालत ऐसी हो चुकी है कि पहचानना कठिन है कि बाघ नर है या मादा। बाघ के नाखून और दांत सुरक्षित मिलने से शिकार की आशंका को वन अधिकारी नकार रहे हैं।

अधिकारियों के मुताबिक, बाघ का शव रविवार दोपहर एक गन्ने के खेत में देखा गया। यह खेत दुधवा उद्यान के करीब और शारदा नदी तलहटी में है। दोपहर के वक्त गन्ना छील रहे मजदूर जब खेत के अंदर गए तो वहां उन्हें बाघ का शव दिखाई दिया, जिसकी सूचना अधिकारियों को दी गई।

सूचना पर जिला वन अधिकारी नीरज कुमार, दुधवा उद्यान के उपनिदेशक पी.पी. सिंह भी पहुंच गए। दुधवा के उपनिदेशक पी.पी. सिंह ने बताया, “बरामद शव बाघ का ही है। शव सड़ने के बाद भी बाघ के नाखून और सभी दांत सुरक्षित हैं। दांतों को देखने से वे घिसे हुए लग रहे हैं, जिससे अंदाजा लगाया जा रहा है कि यह बूढ़ा और शिकार करने अक्षम हो चुका था।”

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button