छोटे भाई के आंसू व्यर्थ नहीं जाएंगे, बाबा टिकैत का एक- एक सिपाही दिल्ली कूच करें- नरेश टिकैत

नई दिल्ली ; कृषि कानून (Agricultural law) को लेकर भारतीय किसान यूनियन (Indian Farmer’s Union) अब केंद्र सरकार से आर – पार के मूड में आ चुकी है। गुरुवार शाम को राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) के रोते हुए भावुक स्पीच देने के बाद उनके बड़े भाई व भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रिय अध्यक्ष नरेश टिकैत (Naresh Tikait) एक्शन में आ गए है। गुरवार रात नरेश टिकैत ने ट्वीट कर कहा कि चौधरी महेंद्र सिंह टिकैत (Chaudhary Mahendra Singh Tikait) के बेटे व मेरे छोटे भाई राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) के आसूं व्यर्थ नहीं जाएंगे, बाबा टिकैत का एक- एक सिपाही दिल्ली कूच करें।

नरेश टिकैत (Naresh Tikait) ने कहा कि सुबह महापंचायत होगी और अब इस आंदोलन को निर्याणक स्थित में पहुंचाकर ही दम लेंगे। वहीं गाजीपुर बॉर्डर पर किसानों की बढ़ती तादात को देखते हुए पुलिस बल ने अपनी कार्रवाई को संयमित कर दिया है, लेकिन पुलिस बल राकेश टिकैत को गिरफ्तार करने के लिए बड़ी सख्या में अब भी जमावड़ा डाली हुई है।

राकेश टिकैत से मिलेंगे RLD नेता

राकेश टिकैत ने एक के बाद एक ट्वीट कर हरियाणा सहित पंजाब और उत्तर प्रदेश के किसानों को दिल्ली कूच करने का आग्रह किया है। वहीं दूसरी तरफ विपक्ष के तमाम नेताओं के समर्थन के बाद आरएलडी नेता जयंत चौधरी राकेश टिकैत से मिलने सुबह 7 बजे गाजीपुर बॉर्डर पहुंच रहे है।

किसानों के समर्थन में बीजेपी नेता ने छोड़ी पार्टी

विपक्षी नेताओं के साथ अब बीजेपी (BJP) के नेता भी किसानों के समर्थन में आते दिख रहे है, हरियाणा भाजपा के नेता और पूर्व मुख्य संसदीय सचिव रामपाल माजरा (Rampal Majra) ने गुरुवार को किसानों के समर्थन में भाजपा से इस्तीफा दे दिया। रामपाल माजरा ने कहा कि दिल्ली में हिंसा निंदनीय है, लेकिन इसमें किसानों से जयादा दोषी केंद्र सरकार है जो राष्ट्र की रक्षा नहीं कर सकी, आंदोलन में  शामिल आराजक तत्वों को पहचान कर गिरफ्तार नहीं कर सकी।

इसे भी पढ़े: आज रात तय होगा किसान आंदोलन का भविष्य, विपक्ष के समर्थन के बीच भारी फ़ोर्स तैनात

Related Articles