बीजेपी के 21 बागीयों को लोजपा ने एनडीए के खिलाफ मैदान में उतारा

बिहार: विधानसभा चुनाव में लोजपा ने बड़ा दांव खेलते हुए बीजेपी के ही 21 बागी नेताओं को जेडीयू के खिलाफ चुनावी मैदान में उतार दिया है। आज तक बिहार के इतिहास में किसी भी पार्टी ने इतने अधिक बागी नेताओं को चुनावी मैदान में नहीं उतारा है।

लोजपा दल के मुखिया चिराग पासवान ने यह पहले ही साफ कर दिया था कि उनका कोई भी प्रत्याशी बीजेपी के खिलाफ चुनाव नहीं लडेगा। बीजेपी के जितने भी बागी नेता चुनाव लड रहे हैं उनके सामने एनडीए की सीट पर केवल जेडीयू के ही प्रत्याशी चुनावी मैदान में हैं।

लोजपा में शामिल होने वाले कुछ नेता बीजेपी में लंबे समय से काम कर रहे थे, ये बीजेपी के जाने पहचाने चेहरों में आते हैं और एनडीए की सरकार में अच्छे पदों पर कार्य कर चुके हैं।

अगर हम प्रत्याशियों की बात करे तो दिनारा से लोजपा ने राजेंद्र प्रसाद को, सासाराम से रामेश्वर प्रसाद चौरसिया, घोषी से राकेश कुमार, पालीगंज से उषा विद्यार्थी, झाझा से डॉ रवींद्र यादव, जहानांबाद से इन्दु कश्यप, अमरपुर से मृणाल शेखर और संदेश से श्वेता सिंह को सीट दिया है। इनमें से रामेश्वर प्रसाद चौरसिया एनडीए के सरकार में उच्च पद पर रह चुके हैं। यह सारे प्रत्याशी पहले चरण के चुनाव में अपना हाथ आजमायेंगे।

दूसरे चरण में लोजपा ने मनोज कुमार सिंह को रघुनाथपुर से, तारकेश्वर सिंह को बनियापुर से और कई दूसरे प्रत्याशियों को अपना चुनावी चिन्ह दिया है। कुल मिलाकर लोजपा नें 136 सीटों पर अपने प्रत्याशी ख़डे किये हैं जिनमें से दो का नामांकन रद्द कर दिया गया है। अब बिहार विधान सभा चुनाव में लोजपा 134 सीटों पर अपनी दावेदारी को मजबूत करने की कोशिश में लगी हैं।

ये भी पढ़ें: अमेरिका: चुनाव से पहले आखिरी बहस में एक-दूसरे पर बरसे ट्रम्प-बिडेन

Related Articles