LockDown 4.0 in UP: प्रदेश में 58 हजार बैंकिंग सखी प्रतिनिधि तैनात करेगी योगी आदित्यनाथ सरकार

0

कोरोना वायरस के भयंकर संक्रमणकाल में लॉकडाउन के बीच में भी योगी आदित्यनाथ सरकार पांच लाख लोगों को रोजगार देने का अपना वादा पूरा करने में लगी है।प्रवासी कामगारों को काम देने के साथ ही अन्य प्रतिभावान लोगों को उनकी क्षमता के अनुरूप काम देने के प्रयास में लगी प्रदेश सरकार ने गांवों में 58 हजार बैंकिंग सखी तैनात करने की योजना तैयार की है। इनको बैंकिंग से जुड़े कामों के बदले में कमीशन प्रदान किया जाएगा।

लखनऊ में लोक भवन में टीम 11 के साथ बैठक में मुख्यमंत्री ने ग्रामीण क्षेत्रों में महिलाओं के लिए रोजगार की नई योजना पर चर्चा की। फिलहाल तो सरकार का विचार प्रदेश भर के ग्रामीण क्षेत्रों में 58 हजार बैंकिंग सखी प्रतिनिधि तैनात करने का है। यह लोगों की बैंक से जुड़े कार्यों में मदद करेंगी। इन्हेंं काम के आधार पर कमीशन दिया जाएगा।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने वैश्विक महामारी कोरोना के संकट के समय में देश की ग्रामीण अर्थव्यवस्था की रीढ़ बनने वाले महिला स्वयं सहायता समूहों को आज रिवॉल्विंग फंड के साथ ही कम्युनिटी इंवेस्टमेंट फंड से 218 करोड़ 49 लाख की सहायता प्रदान की। सीएम योगी आदित्यनाथ ने इस अवसर पर कहा कि महिला स्वयंसेवी समूहों को यदि रिवॉल्विंग फंड और कम्युनिटी इंवेस्टमेंट फंड समय पर उपलब्ध करवा दिए जाते हैं, तो बहुत बड़ा काम हो सकता है। यह ग्रामीण स्वावलम्बन के आदर्श उदाहरण बन सकते हैं। इससे उनकी प्रतिभा का लाभ उत्तर प्रदेश को मिलेगा और हम उत्तर प्रदेश को देश और दुनिया के सामने अग्रणी स्थान पर ले आएंगे।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि मैंने तमाम महिला स्वयंसेवी समूहों के साथ व प्रवासी कामगारों के साथ बातचीत की और यह अनुभव किया है कि उन्हेंं प्रोत्साहन की आवश्यकता है। हमारे कुछ महिला स्वयंसेवी समूह ऐसे भी हैं जिन्होंने पीपीई किट भी बनाए हैं। इस किट को बनाकर उन्होंने बहुत अच्छा काम किया है और यह बताया है कि हमारे बीच एक बहुत बड़ी प्रतिभा महिला स्वयंसेवी समूहों के रूप में है। उन्हेंं थोड़ा बहुत मार्गदर्शन व सहयोग मिल जाए तो वह कुछ भी कर सकती हैं।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस अवसर पर कोरोना वॉरियर्स को भी काफी सराहा। उन्होंने कहा स्वाभाविक तौर पर कोरोना वायरस की चेन तोडऩे की चुनौती का सामना करने और उपचार के कार्यों में हमारे कोरोना वॉरियर्स लगातार जुटे हुए हैं। सूबे में सार्वजनिक स्थानों पर काम करने वाले हमारे लोग चाहे वे कोरोना वॉरियर्स हों, व्यापारी हों या आम लोग हों, सभी को फेस कवर व मास्क उपलब्ध कराने में महिला स्वयंसेवी समूहों ने बहुत मजबूती के साथ काम किया है। इस दृष्टि से महिला स्वयंसेवी समूहों ने जो कार्य किया है, वह बहुत सराहनीय है। मैं महिला स्वयंसेवी समूहों से जुड़ी सभी बहनों का हृदय से अभिनंदन करता हूं। इन सबको कोटि-कोटि बधाई व शुभकामनाएं देता हूं।

loading...
शेयर करें