IPL
IPL

Lockdown Latest Update: कोरोना की दूसरी लहर बेहद खतरनाक, देश के इन शहरों में लगा लॉकडाउन

कोरोना के संक्रमण को रोकने के लिए कई राज्यों ने अपने स्तर पर कड़े कदम उठाने शुरू कर दिए हैं।

नई दिल्ली: कोरोना वायरस की दूसरी लहर बेहद खतरनाक नजर आ रही है। कोराना पिछली बार की आपेक्षा इस बार बहुत ही तेजी से लोगों को अपनी चपेट में ले रही है। पिछले 24 घंटे में 81 हजार से ज्यादा नए मरीज मिलने की रफ्तार ये बता रही है कि अब कोरोना बेकाबू होता जा रहा है। कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या भी तेजी से बढ़ रही है। ऐसे समय में लापरवाही भारी पड़ सकती है। लोगों की लापरवाही और कोरोना के प्रसार ने कई राज्यों की चिंता बढ़ा दी है।

कोरोना के संक्रमण को रोकने के लिए कई राज्यों ने अपने स्तर पर कड़े कदम उठाने शुरू कर दिए हैं। कई राज्यों ने आंशिक लॉकडाउन के साथ ही सार्वजनिक कार्यक्रमों पर प्रतिबंध लगाने का फैसला लिया है तो वहीं देश के कुछ शहरों में लॉकडाउन भी लगाया गया है। बता दें कि देश के कई शहरों में नाईट कर्फ्यू पहले से ही जारी है।

महाराष्ट्र में सात दिनों तक बंद

कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित महाराष्ट्र के पुणे जिले में स्थानीय प्रशासन ने बार, होटल, रेस्टोरेंट को अगले सात दिनों तक बंद करने का फैसला किया है। पुणे के डिविजिनल कमिश्नर सौरभ राव ने बताया कि शनिवार से रात 12 से सुबह छह बजे तक रात्रि कर्फ्यू लगाने का फैसला लिया है। इस दौरान सभी धार्मिक स्थल अगले सात दिनों तक पूरी तरह से बंद रहेंगे।

वहीं, कहा गया है कि अगले सात दिनों के दौरान शादी और अंतिम संस्कार के अलावा किसी भी तरह का सार्वजनिक कार्यक्रम आयोजन करने की अनुमति नहीं होगी। अंतिम संस्कार में जहां अधिकतम 20 लोग शामिल हो सकेंगे वहीं शादी में 50 लोगों के शामिल होने की अनुमति होगी।

मध्यप्रदेश के चार जिलों में लॉकडाउन 

कोरोना के लगातार बढ़ते हुए मामले को देखते हुए मध्यप्रदेश सरकार ने राज्य के चार जिलों में लॉकडाउन लगा दिया है। राज्य सरकार ने बेतूल जिले में शुक्रवार रात दस से तो खरगोन के शहरी क्षेत्रों में लॉकडाउन लगाने का निर्णय लिया है। रतलाम शहर और छिंदवाड़ा जिले में बृहस्पतिवार रात दस बजे से लेकर सोमवार सुबह 6 बजे जरूरी सेवाओं को छोड़कर अन्य सभी गतिविधियों पर पाबंदी रहेगी।

छत्तीसगढ़ में लॉकडाउन 

वहीं, छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिला प्रशासन ने जिले में छह से 14 अप्रैल तक पूर्ण लॉकडाउन लगाने का एलान किया है। जिलाधिकारी सर्वेश्वर नरेंद्र भूरे ने कहा कि कोविड-19 के बढ़ते मामलों की समीक्षा के दौरान यह पाया गया कि संक्रमण चेन को तोड़ने के लिए लॉकडाउन लगाना जरूरी है, इसके लिए जनता के समर्थन की जरूरत है।

महाराष्ट्र में लॉकडाउन का संकेत

महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण के बीच शुक्रवार की रात मुख्यंत्री उद्धव ठाकरे ने जनता को संबोधित किया और कहा कि कोरोना के चलते महाराष्ट्र में लॉकडाउन लगेगा या नहीं लगेगा, इस पर मैं अभी कुछ भी नहीं बोलूंगा, लेकिन जो हालात इस समय हैं, अगर ये आगे भी जारी रहेंगे तो संभालना मुश्किल होगा और इसके बाद लॉकडाउन की आखिरी उपाय है।

यह भी पढ़ें: COVID-19 के खिलाफ सीएम योगी सख्त, कहा मास्क लगाना न भूलें

Related Articles

Back to top button