लोकसभा चुनाव 2019 : पार्टी को लोगों की नाराज़गी के कारण लालगंज सीट से मायावती ने बदला प्रत्याशी

0

आज़मगढ़। आचार संहिता लगने के बाद से सभी पार्टियां अपने-अपने प्रत्याशियों की घोषणा करने में जुट गई हैं। कुछ पुराने प्रत्याशियों के टिकट कट रहे हैं तो कई नये चेहरे भी सामने आ रहे हैं। लोकसभा चुनाव के ठीक पहले हुए सपा-बसपा गठबंधन से आजमगढ़ जिले की लालगंज लोकसभा सीट बसपा के खाते में चली गई है।

इस सीट से बसपा प्रत्याशी घूरा राम का टिकट लगभग एक साल पहले ही से तय था। लेकिन मंगलवार को इनका टिकट काट दिया गया। मंगलवार को बसपा पार्टी के सदस्यों द्वारा जिले में एक बैठक का आयोजन किया गया। जिसमें पार्टी के जिलाध्यक्ष अरविंद गौतम और जिला प्रभारी सुनील कुमार सहित बसपा के अन्य कई पदाधिकारी मौजूद रहें।

बैठक में ही जिला प्रभारी सुनील कुमार ने बताया कि बसपा सुप्रीमो मायावती ने पूर्व मंत्री घूरा राम को पद से हटा दिया है। ऐसा इसलिए किया गया क्योंकि उनके उपर जनता के द्वारा लगातार अनुशासनहीनता का आरोप लग रहा है।

बसपा के जिलाध्यक्ष अरविंद गौतम ने बताया कि एक सप्ताह के अन्दर ही नये प्रत्याशी की घोषणा कर दी जाएगी। वहीं, स्थानीय संगठन के लोग भी घूरा राम से लगातार नाराज चल रहे थें। पार्टी के सदस्यों की मांग पर इनको बाहर किया गया।

घूरा राम के बाहर होते ही अब टिकट के लिए लालगंज विधायक आजाद अरिमर्दन, डॉ. बलिराम और संगठन के पदाधिकारी मदन राम जोर लगा रहे हैं। देखना दिलचस्प होगा कि घूरा राम को हटाने के बाद बसपा सुप्रीमो मायावती लालगंज लोकसभा सीट के लिए किसे अपना उम्मीदवार बनाती है।

loading...
शेयर करें