लोकसभा चुनाव में राजनीतिक दलों के साथ अब सामाजिक संगठन भी हुए शामिल

लखनऊ। आगामी लोकसभा चुनाव में राजनीतिक दलों के साथ अब सामाजिक संगठनों ने भी दिलचस्पी लेना शुरू कर दिया है। उत्तर प्रदेश के हिस्से वाले बुंदेलखंड अंचल की 19 विधानसभा और चार लोकसभा सीटों में अनुसूचित जाति और पिछड़े वर्ग के मतदाताओं के बीच अपनी मजबूत पकड़ बनाने वाले सामाजिक संगठन ‘पब्लिक एक्शन कमेटी’ (पीएसी) की प्रमुख श्वेता मिश्रा ने मंगलवार सुबह मीडिया से मुखातिब होकर कहा, “आगामी लोकसभा चुनाव में उनका संगठन बुंदेलखंड की सभी चारों लोकसभा सीटों पर सपा और बसपा के गठबंधन को बिना शर्त समर्थन देगा।”

पीएसी प्रमुख श्वेता मिश्रा ने मंगलवार को कहा, “केंद्र और राज्य में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की सरकार सिर्फ जुमलेबाजी कर सत्ता में आई है, किसी के खाते में कालाधन का 15 लाख रुपये नहीं भेजे गए और ‘कर्ज’ और ‘मर्ज’ से परेशान किसानों की खुदकुशी जारी है। जुमलेबाजी में एक बार धोखा दिया जा सकता है, बार-बार नहीं।”

उन्होंने कहा कि बुंदेलखंड़ में चार लोकसभा सीटों में 19 विधानसभा सीटें भी है, जो भाजपा की झोली में हैं लेकिन भाजपा के विधायकों और सांसदों ने जनता को ठगने का काम किया है। श्वेता ने कहा,”उनका संगठन 2022 के विधानसभा चुनाव में पांच सीटों पर आपसी तालमेल से उम्मीदवार भी उतारेगा।”

Related Articles