राहुल गांधी के फैसले पर लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने जताई कड़ी आपत्ति

नई दिल्ली : लोकसभा अध्यक्ष (speaker) ओम बिरला (Om Birla) ने गुरुवार को कृषि कानूनों (Agricultural laws) के खिलाफ आंदोलन कर रहे किसानों की मौत को लेकर राहुल गांधी (Rahul Gandhi) के फैसले पर कड़ी आपत्ति जताई है। लोकसभा अध्यक्ष ने राहुल गांधी के कदम पर अपनी अस्वीकृति व्यक्त करते हुए कहा कि ऐसे किसी भी प्रस्ताव पर अध्यक्ष से परामर्श किया जाना चाहिए, ना कि मनमाने ढंग से कार्यवाही के बारे में निर्णय लेना चाहिए।

बता दें कि लोकसभा में कृषि कानूनों को लेकर मोदी सरकार (Modi government) पर हमले के दौरान राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने इस कानून के विरोध प्रदर्शन (farmers protest) में मर रहे किसानों के लिए पार्टी के सदस्यों को मौन धारण कर श्रद्धांजलि अर्पित करने के लिए कहा। राहुल के इस फैसले को लेकर लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला (Om Birla) ने कड़ी आपत्ति जताई और कहा कि सदन में इस तरह का व्यवहार ठीक नहीं है। यह गरिमापूर्ण कार्य नहीं है।

करीब तीन महीनें से आंदोलनरत है किसान

उन्होंने कहा कि सदस्यों को अपना प्रस्ताव लिखित रूप में देना चाहिए, जिस पर परामर्श आयोजित किया जा सकता है। लोकसभा अध्यक्ष की बजट पर बात करने की अपील के बाद भी राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने बजट पर कुछ नहीं कहा। उन्होंने कहा कि वह केंद्रीय बजट पर कोई टिप्पणी नहीं करेंगे। राहुल ने कहा कि विरोध प्रदर्शन के दौरान 200 किसानों की मृत्यु हो गई है, लेकिन सरकार ने उन्हें श्रंद्धांजलि नहीं दी हैं।

इसे भी पढ़े : राजनीति में मची हलचल, प्रियंका गांधी के करीबी ने इन्हें दिया सीएम बनने का आशीर्वाद

बता दें कि नए कृषि कानून (New agricultural law) के विरोध में किसान दिल्ली की अलग – अलग सीमाओं पर पिछले करीब तीन महीनों से आंदोलनरत है, और इस आंदोलन के दौरान अभी तक करीब दो सौ किसान अपनी जान गवा चुके हैं।

Related Articles

Back to top button