साउथ अफ्रीका के तेज गेंदबाज पर लगा आठ साल का प्रतिबंध, जानिए क्‍यों

0

जोहानिसबर्ग। दक्षिण अफ्रीका के तेज गेंदबाज लोनवाबो सोतसोबे पर मैच फिक्सिंग का आरोप सही सिद्ध हुआ है जिसके बाद क्रिकेट दक्षिण अफ्रीका यानी CSA ने उनपर आठ साल का प्रतिबंध लगा दिया है। दरअसल, सोतसोबे ने वर्ष 2015 में हो रही टी-20 चैलेंज सीरीज में मैच फिक्सिंग की थी। ऐसा उन्होंने उन्होंने इसलिए किया था क्योंकि उस वक्त उनकी इकोनोमिकल कंडीशन ठीक नहीं थी।

लोनवाबो सोतसोबे

लोनवाबो सोतसोबे ने अपना जुर्म कबूला

CSA ने उनसे इस मामले में कई बार पूछताछ की लेकिन पहले उन्होंने इस बात से साफ इंकार कर दिया। मगर बाद में उन्होंने अपनी गलती स्वीकार ली कि वो 2015 की टी-20 चैलेंज सीरीज के दौरान मैच फिक्सिंग में लिप्त थे। CSA ने भी इस बात की पुष्टि की है। साथ ही कहा है कि, ‘33 वर्षीय सोतसोबे ने भ्रष्टाचार रोधी संहिता का उल्लंघन करने के आरोप स्वीकार कर लिए हैं और उन पर आठ वर्षो के लिए प्रतिबंध लगा दिया गया है।’

सोतसोबे ने शुरू में मैच फिक्सिंग में शामिल होने से इन्कार किया था और यह प्रतिबंध उन्हें खेल के स्थानीय और अंतरराष्ट्रीय पर किसी भी स्वरूप में शामिल होने से रोकता है। CSA ने साथ में यह भी कहा कि लोनवाबो सोतसोबे मैच फिक्सिंग की गतिविधियों में सम्मिलित थे। ऐसे में उनपर ये प्रतिबंध लगाना उचित है।

यह भी पढ़ें : एक बार फिर भारतीय क्रिकेट टीम से जुड़ेंगे कपिल देव

लोनवाबो सोतसोबे के साथ इस घटना में नौ लोग और सम्मिलित थे। उन लोगों पर भी CSA ने कार्रवाई की है। लोनवाबो सोतसोबे की तरह कई खिलाड़ी और भी ऐसे हैं जिन्होंने अपने जीवन में मैच फिक्सिंग जैसा काम किया है। इस लिस्ट में एक नाम भारतीय गेंदबाज का भी शामिल है और ये खिलाड़ी एस. श्रीसंत हैं।

loading...
शेयर करें