IPL
IPL

ज़िंदगी का एक साल खोया लेकिन बहुत कुछ नया भी सीखा : Prime minister Modi

नई दिल्ली : Prime minister नरेंद्र मोदी ने बुधवार को कहा कि कोरोनोवायरस पेण्डामिक की वजह से स्टूडेंट्स को अपने जीवन का एक साल तो गंवाना पड़ा लेकिन इस महामारी से उन्हें ज़िंदगी की कीमत और जीवन में क्या ज़रूरी है और क्या नहीं इस बात का अंदाज़ा भी हुआ है।

यह भी पढ़ें : आइये डालते हैं Bjp के चार दशक के इस सियासी सफर पर एक नज़र

बोर्ड एग्ज़ाम्स से पहले छात्रों के साथ “परिक्षा पे चर्चा ” नाम की अपनी एनुअल बातचीत में, उन्होंने कहा कि COVID-19 महामारी ने हमें सिखाया की जो कुछ हमारे पास है उसे फॉर ग्रांटेड नहीं लेना चाहिए। स्कूल और दफ्तर आने जाने जैसी रोज़ाना की बातें भी हमें  इस पेण्डामिक नेमत जैसी लगीं।

प्रधानमंत्री ने आगे कहा कि हम यह कह सकते हैं कि छात्रों ने कोविड की वजह से अपने जीवन एक कीमती साल खो दिया है, लेकिन इसी की वजह से उन्होंने बहुत सारे अहम सबक भी सीखे । उन्होंने जीवन की कई आवश्यक चीजों का सही मूल्य सीखा है। इसी के साथ-साथ इस महामारी ने हमें आइंदा भविष्य में अप्रत्याशित से लड़ने के लिए तैयार भी किया है। इसी की वजह से बच्चों को नियमित स्कूल के और बड़ों को दफ्तर के महत्व का एहसास हुआ। इसी कड़ी में बोलते हुए उन्होंने कहा कि जहाँ कोविड से हम सामाजिक रूप से दूर हुए वहीँ इसने परिवारों के भावनात्मक संबंध को बेहद मजबूत भी किया।

Prime minister ने पहली बार वर्चुअली की परीक्षा पर चर्चा

प्रधानमंत्री ने कहा की हम ने महामारी के दौरान बहुत कुछ खोया हैं लेकिन  बहुत कुछ हासिल भी किया है। कोरोना ने जो सबसे बड़ा सबक हमें सिखाया वह यह है कि जिन चीजों को आप ने लॉकडाउन  दौरान सबसे ज़्यादा याद किया, उनकी की आपके जीवन में सबसे महत्वपूर्ण भूमिका है। आप को बताते चलें कि परीक्षा पर चर्चा का यह सेशन कोविड प्रोटोकॉल के तहत वर्चुअली किया गया था।

 

 

Related Articles

Back to top button