खुलासा: इस महिला से बेहद प्यार करते थे नेहरू, लेकिन नहीं किया था ‘सेक्स’

0

नई दिल्ली: भारत के पहले प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरु और इंग्लैंड की एडविना माउंटबेटन के प्यार के किस्से तो आपने कई बार सुना होगा, लेकिन इस बार इसका जिक्र खुद एडविना माउंटबेटन की बेटी ने किया है। माउंटबेटन की बेटी ने कहा, उनकी मां और नेहरु एक-दूसरे से प्रेम तो करते थे, लेकिन उनका संबंध कभी जिस्मानी नहीं रहा। क्योंकि वे कभी अकेले नहीं मिले।

यह भी पढ़ें: ‘जय श्रीराम’ बोलते ही नीतीश कुमार के मंत्री पर गिरी गाज…

एक वेब पोर्टल से मिली जानकारी के अनुसार, भारत के अंतिम वायसराय लॉर्ड लूईस माउंटबेटन की पुत्री पामेला हिक्स नी माउंटबेटन ने बताया कि उन्होंने अपनी मां और नेहरू के बीच गहरे संबंध विकसित होते हुए देखा। उनका कहना है, उन्हें पंडितजी में वह साथी, आत्मिक समानता और बुद्धिमतता मिली, जिसे वह हमेशा से चाहती थीं।

एडविना की बेटी ने कहा कि वह इस संबंध के बारे में और जानने को इच्छुक थीं। लेकिन अपनी मां को लिखे नेहरू के पत्र पढ़ने के बाद पामेला को एहसास हुआ कि वह और मेरी मां किस कदर एक-दूसरे से प्रेम करते थे और सम्मान करते थे।

यह भी पढ़ें: आरएसएस कार्यकर्ता की हत्या से भड़क उठे राजनाथ, कहा- राजनीतिक हिंसा बर्दाश्त नहीं

पामेला ने यह भी कहा हैं कि भारत से जाते हुए एडविना अपनी पन्ने की अंगूठी नेहरू को भेंट करना चाहती थीं। लेकिन उन्हें पता था कि वह स्वीकार नहीं करेंगे। इसलिए उन्होंने अंगूठी उनकी बेटी इंदिरा को दी और कहा, यदि वह कभी भी वित्तीय संकट में पड़ते हैं, तो उनके लिए इसे बेच दें। क्योंकि वह अपना सारा धन बांटने के लिए प्रसिद्ध हैं।

पामेला द्वारा किये गए इस खुलासे की जानकारी 2012 में ब्रिटेन में प्रकाशित ‘डॉटर ऑफ एंपायर: लाइफ एज ए माउंटबेटन’ नाम की पुस्तक से हुई है जिसे भारत में हशेत पेपरबैक की रूप में आया है।

loading...
शेयर करें