इण्डो-अमेरिकन चैम्बर ऑफ कामर्स के लखनऊ चैप्टर शुरू: सतीश महाना

लखनऊः उत्तर प्रदेश के औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना से आज उनके आवास पर इण्डो-अमेरिकन चैम्बर ऑफ कामर्स (लखनऊ चैप्टर) के प्रेसिडेंट मुकेश सिंह की अगुवाई में नार्थ इण्डिया, यू0एस0, एम्बेसी के डायरेक्टर माइकल रोसेंथाल के नेतृत्व में चार सदस्यीय प्रतिनिधि मण्डल ने भेंट की।

इस शिष्टाचार मुलाकात के दौरान माइकल रोसेंथाल ने उत्तर प्रदेश और यू0एस के बीच व्यापारिक संबंध बढ़ाने पर चर्चा की। उन्होंने कहा कि हमारा कार्यालय उत्तर भारत के हिस्से में नहीं है। यहां पर कार्यालय स्थापित कराये जाने की योजना है। भारत से संबंध दोनों देशों के लिए बेहतर और फायदेमंद साबित होंगे।

इण्डो-अमेरिकन चैम्बर ऑफ कामर्स

इस अवसर पर महाना ने कहा कि इण्डो-अमेरिकन चैम्बर ऑफ कामर्स के लखनऊ चैप्टर शुरू होने से उत्तर प्रदेश में इण्डस्ट्रीलाइजेशन की नई शुरूआत होगी। वर्तमान में उत्तर प्रदेश निवेश की दृष्टि महत्वपूर्ण गन्तव्य है। यदि अमेरिका उत्तर प्रदेश में व्यापार बढ़ायेगा तो उत्तर प्रदेश के साथ-साथ यू0एस0 में भी प्रोग्रेस होगी।

प्रदेश को हो रही तरक्की

उन्होंने माइकल रोसेंथाल को उत्तर प्रदेश में निवेश की संभावनाओं से अवगत कराते हुए कहा कि प्रदेश में उद्यम स्थापना के लिए पर्याप्त भूमि उपलब्ध है। प्रदेश के उर्जावान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में प्रदेश तरक्की के शिखर पर पहुंच रहा है। उन्होंने कहा कि हम अपने को कैसे बेहतर सिद्ध करें, इसी एजेण्डे पर कार्य किया जा रहा है।

पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का शिलान्यास

महाना ने कहा कि देश का सबसे बड़ा एक्सप्रेस-वे उत्तर प्रदेश में है। शीघ्र ही पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का शिलान्यास होगा। उद्यमियों की सुविधा के लिए एक्सप्रेस-वे के किनारे औद्योगिक क्षेत्र विकसित किया जा रहा है। प्रत्येक जिले में एक-एक मेडिकल कालेज स्थापित कराये जाने की योजना है। राज्य सरकार की निवेश प्रभावी नीति के चलते सैमसंग ने प्रदेश में अपना उद्यम स्थापित किया है। उन्होंने कहा कि यूपी में किसी भी उद्योग को शुरू करने के लिए काफी सहूलियत दी गई है। आकर्षक औद्योगिक नीति लागू की गई है।

Related Articles