लखनऊ: अलीगंज हनुमान मंदिर को बम से उड़ाने की धमकी

मिली जानकारी के अनुसार, अलीगंज में नया हनुमान मंदिर बना हुआ है। इस मंदिर में एक डाक के द्वारा गुरुवार को चिट्ठी पहुंची थी।

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के अलीगंज थाना क्षेत्र में स्थित हनुमान मंदिर में बृहस्पतिवार की शाम को जिहादियों की तरफ से एक पत्र पहुंचा गया है। जिसमें राजधानी लखनऊ में पकड़े गए आतंकियों को 14 अगस्त से पहले रिहा करने की मांग की गई है, इसके साथ ही धमकी दी गई कि अगर ऐसा नहीं किया गया तो शहर के बड़े मंदिर व आरएसएस के दफ्तर को निशाना बनाया जाएगा। ऐसे में मंदिर प्रशासन की तरफ से शुक्रवार को ज्वाइंट कमिश्नर अपराध नीलाब्जा चौधरी को पूरे मामले की जानकारी दी गई है। जेसीपी अपराध नीलाब्जा चौधरी ने इस मामले की गंभीरता को देखते हुए क्राइम टीम को जांच के लिए आदेश दिया है। क्राइम टीम इस पूरे मामले पर जांच करने में जुट गई है।

14 अगस्त से पहले आतंकियों को रिहा करने की मांग

मिली जानकारी के अनुसार, अलीगंज में नया हनुमान मंदिर बना हुआ है। इस मंदिर में एक डाक के द्वारा गुरुवार को चिट्ठी पहुंची थी। जिसको मंदिर प्रशासन की ओर से ले लिया गया था। मंदिर में मौजूद उत्कर्ष वाजपेई ने जब उस चिट्ठी को खोला तो उनके पैरों तले जमीन खसक गए। उत्कर्ष बाजपेई ने बताया कि चिट्ठी में लिखा हुआ था कि पकड़े गए आतंकियों (लखनऊ में पकड़े गए आतंकी) को 14 अगस्त से पहले छोड़ने की मांग की गई है। ऐसा न करने पर बड़े मंदिर व आरएसएस के कार्यालयों को निशाना बनाने की धमकी दी गई है। उत्कर्ष की मानें तो पत्र के लिफाफे पर प्रबंधक नया हनुमान मंदिर लिखा हुआ था।

 

वहीं भेजने वाले के नाम की जगह खदरा के मदेयगंज इलाके में रहने वाले जोगिंदर सिंह का नाम लिखा हुआ था। पत्र पर लगे डाक टिकट के जरिए पता चलता है कि उसको त्रिवेणी नगर डाकघर से भेजा गया है। वहीं पत्र मिलने के बाद से मंदिर में खौफ का माहौल बना हुआ है। फिलहाल मामले की जांच लखनऊ की क्राइम ब्रांच की टीम जुटी हुई है।

यह भी पढ़ें: भिंड में बड़ा हादसा, 150 साल पुरानी जेल की दीवारें गिरी, कैदी घायल

Related Articles