लखनऊ: छह माह से गायब थी महिला, प्रेमी के घर दफन मिला शव

0

लखनऊ : अक्टूबर 2018 से गायब जिस विधवा की पुलिस छह माह से तलाश कर रही थी, उसकी हत्या कर दी गई थी. बुधवार को पुलिस ने विधवा रामजानकी के प्रेमी को गिरफ्तार कर उसके घर के आंगन से महिला का शव बरामद किया. आरोपी ने बताया कि उसने नशे में रामजानकी की गला दबाकर हत्या की थी और शव घर के आंगन में दफना दिया था.

27 अक्टूबर को हुई थी गायब
इंस्पेक्टर सआदतगंज महेश पाल ने बताया कि राम नगर में दो बच्चों के साथ रहने वाली विधवा रामजानकी 27 अक्टूबर 2018 को गायब हो गई थी. 1 नवंबर को उसकी मां सुमित्रा देवी ने गुड्डू बाबा नाम के व्यक्ति पर शक जताते हुए एफआईआर दर्ज कराई थी.

 

सर्विलांस से खुला मामला
इंस्पेक्टर सआदतगंज ने बताया कि जब रामजानकी की कॉल डिटेल निकालकर छानबीन कराई गई तो विजेंद्र का नाम सामने आया. विजेंद्र मानकनगर के मेहंदीगंज में रहता है. पुलिस ने आरोपी विजेंद्र को मंगलवार को पकड़कर पूछताछ की तो उसने रामजानकी की हत्या की बात स्वीकार कर ली.

उसी दिन कर दी थी हत्या
आरोपी ने बताया कि उसका रामजानकी से अफेयर चल रहा था. 27 अक्टूबर को वह उससे मिलने उसके घर आई थी. जब वह जाने लगी तो उसने रामजानकी को रात यहीं गुजारने को कहा. जब वह तैयार नहीं हुई तो शराब के नशे में उसने रामजानकी की गला दबाकर हत्या कर दी और शव आंगन में दफना दिया.

बरामद किया शव
पुलिस मजिस्ट्रेट की मौजूदगी में विजेंद्र को लेकर उसके घर पहुंची और आंगन में तीन फीट नीचे दफनाए गए शव को बरामद किया. पहचान के लिए रामजानकी के मायके और ससुराल वालों को बुलाया गया, जिन्होंने शव की पहचान कर ली.

गुड्डू बाबा पर भी नजर
इस मामले में रामजानकी की मां ने गुड्डू बाबा पर उसे गायब करने का आरोप लगाया था. मां ने कहा था कि रामजानकी ने बताया था कि गुड्डू बाबा ने उसे मिलने के लिए बुलाया है. गुड्डू बाबा ने 28 अक्टूबर को फोन करके पूछा था कि क्या रामजानकी गायब है. परिजनों का कहना था कि आखिर गुड्डू को उसके गायब होने की जानकारी कैसे थी. पुलिस इस मामले में गुड्डू की भूमिका की भी जांच कर रही है.

loading...
शेयर करें