सातवें दिन मां कालरात्रि का ऐसे करें पूजन, मिलेगा लाभ

0

नई दिल्‍ली। नवरात्रि का बुधवार को सातवां दिन है। इस दिन मां दुर्गा के सातवें स्‍वरूप मां कालरात्रि की पूजा होती है1 देखने में यह मां काफी डरावनी होती है। इनका रंग काला और त्रिनेत्रधारी होती हैं। इनका वाहन गदहा है।

लाल धागे का करें उपाय

नवरात्र में मां दुर्गा के मंदिर में लाल धागा या लाल कलावा बांध आएं। धागा बांधते समय अपनी मनोकामना पूरी करने की प्रार्थना करें। निश्चित रूप से आपकी मनोकामना पूरी होगी।

मनोकामना पूरी होने पर धागा खेल दें

मनोकामना पूरी होने के बाद आप वो लाल धागा जरूर खोल दें। अगर ऐसा नहीं कर पा रहे हैं तो किसी निर्धन को भोजन करा दें। ऐसा करने से आपकी और भी मनोकामनाएं पूरी हो जाएंगी।

शनि जयंतीशत्रुओं को करती हैं शांत 

मां कालरात्रि की पूजा बेहद शुभकारी होती है। वो शत्रु और विरोधियों का नाश करती हैं।  मां कालरात्रि की उपासना से भय, दुर्घटना और रोगों का नाश होता है। इनकी उपासना करने से नकारात्मक ऊर्जा खत्म होती है। ज्योतिष में शनि को नियंत्रित करने के लिए मां काली की पूजा अचूक मानी जाती है।

शनि ग्रह शांत करने के लिए ऐसे करें पूजन

मां के सामने घी का दीपक जलाएं। मां को लाल फूल अर्पित करें और साथ ही साथ मां को गुड़ का भोग भी लगाएं। मां के मंत्रों का जाप करें या दुर्गा सप्तशती का पाठ करें।  प्रसाद का आधा हिस्सा परिवार में बांटें, बाकी प्रसाद किसी ब्राह्मण को दान करें।

काले रंग का कपड़ा ना पहनें

काले रंग का कपड़ा पहनकर मां कालरात्रि की पूजा ना करें। इसके अलावा किसी को नुकसान पहुंचाने के लिए भी पूजन ना करें। ऐसा पूजा करने से आप खुद समस्या में आ सकते हैं।

विशेष प्रसाद

मां कालरात्रि को गुड़ का प्रसाद चढ़ाना चाहिए। गुड़ का प्रसाद खुद ग्रहण करें और परिवार व ब्राह्मण को खिलाएं। गरीबों को भोजन कराएं।

loading...
शेयर करें