महंत नरेंद्र गिरि मौत मामला: तीन शिष्यों से पुलिस कर रही पूछ्ताछ

हरिद्वार: अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद (ABAP) के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि के शिष्य आनंद गिरि की मौत के मामले में उन्हें हिरासत में ले लिया गया है। अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद (ABAP) के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि सोमवार को बाघंबरी मठ स्थित आवास पर रहस्यमय परिस्थितियों में मृत पाए गए।

आपको बता दें कि एक सुसाइड नोट बरामद किया गया जिसमें उनके शिष्यों आनंद गिरी और दो अन्य लोगों के नाम का उल्लेख किया गया था। प्रयागराज के अतिरिक्त महानिदेशक (ADG) ने प्रेम प्रकाश ने कहा, “हम बयान दर्ज कर रहे हैं। फील्ड यूनिट फोरेंसिक साक्ष्य एकत्र कर रही है। शव को कल पोस्टमार्टम के लिए भेजा जाएगा, हम निष्कर्षों के आधार पर कार्रवाई करेंगे, अभी तक किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है।”

हरिद्वार के SP सिटी कमलेश उपाध्याय ने कहा, “राज्य पुलिस आनंद गिरी को उत्तर प्रदेश ले गई है क्योंकि यह उनका मामला था।” इस बीच आनंद गिरी ने इस आरोप को ‘साजिश’ करार दिया है।

उन्होंने ने कहा, “यह उन लोगों द्वारा एक बड़ी साजिश है जो गुरुजी से पैसे वसूल करते थे और पत्र में जिनका नाम लिखा था। इसकी जांच की जानी चाहिए क्योंकि गुरु जी ने अपने जीवन में एक पत्र नहीं लिखा और आत्महत्या नहीं कर सके।

यह भी पढ़ें: राज्य मंत्री, आवास एवं शहरी नियोजन का जनपद भ्रमण कार्यक्रम निर्धारित

Related Articles