IPL
IPL

Mahashivratri 2021: शिवरात्रि पर पड़ रहा है ‘पंचक’, जानिए शुभ मुहूर्त

महाशिवरात्रि भगवान शिव का प्रमुख पर्व है। फाल्गुन कृष्ण चतुर्दशी को महाशिवरात्रि पर्व मनाया जाता है

लखनऊ: महाशिवरात्रि (Mahashivratri) हिन्दुओं का एक मुख्य त्यौहार है। यह भगवान शिव का प्रमुख पर्व है। फाल्गुन कृष्ण चतुर्दशी को महाशिवरात्रि पर्व मनाया जाता है। ऐसा माना जाता है कि सृष्टि का प्रारंभ इसी दिन से हुआ। पौराणिक कथाओं के अनुसार इस दिन सृष्टि का आरम्भ अग्निलिंग अर्थात् जो महादेव का विशालकाय स्वरूप है उसके उदय से हुआ।

12 शिवरात्रियों में से एक महाशिवरात्रि

इसी दिन भगवान शिव का विवाह देवी पार्वती के साथ हुआ था। साल में होने वाली 12 शिवरात्रियों में से महाशिवरात्रि को सबसे महत्वपूर्ण माना जाता है। भारत सहित पूरी दुनिया में महाशिवरात्रि का पावन पर्व बहुत ही धूम-धाम और बहुत ही उत्साह के साथ मनाया जाता है। कश्मीर शैव मत में इस त्यौहार को हर-रात्रि और बोलचाल में ‘हेराथ’ या ‘हेरथ’ भी कहा जाता हैं।

 

इस साल महाशिवरात्रि (Mahashivratri) 11 मार्च को दिन में 2 बजकर 41 मिनट से 12 मार्च को दोपहर के 3 बजकर 3 मिनट तक ही रहेगी। इस बार महाशिवरात्रि के दिन पंचक भी लग रहा है।

यह भी पढ़ेअगर आप PM Modi तक अपनी बात पहुँचाना चाहते है, तो ये खबर आपके लिए है..

‘नीलकंठ’  नाम क्यों पड़ा

समुद्र मंथन (Samudra Manthan) अमर अमृत का उत्पादन करने के लिए निश्चित था, लेकिन इसके साथ ही हलाहल नामक विष भी पैदा हुआ था। हलाहल विष में ब्रह्मांड को नष्ट करने की क्षमता थी और इसलिए केवल भगवान शिव इसे नष्ट कर सकते थे। भगवान शिव (Lord Shiva) ने हलाहल नामक विष को अपने कंठ में रख लिया था। जहर इतना शक्तिशाली था कि भगवान शिव बहुत दर्द से पीड़ित हो उठे थे और उनका गला बहुत नीला हो गया था। इस कारण से भगवान शिव ‘नीलकंठ’ (Neelkanth) के नाम से प्रसिद्ध हैं।

 

उपचार के लिए चिकित्सकों ने देवताओं को भगवान शिव को रात भर जागते रहने की सलाह दी। इस प्रकार, भगवान शिव (Lord Shiva) के चिंतन में एक सतर्कता रखी। शिव का आनंद लेने और जागने के लिए, देवताओं ने अलग-अलग नृत्य और संगीत बजाए। जैसे ही सुबह हुई उनकी भक्ति से प्रसन्न भगवान शिव ने उन सभी को आशीर्वाद दिया। शिवरात्रि (Shivratri) इस घटना का उत्सव है, जिससे शिव ने दुनिया को बचाया। तब से इस दिन, भक्त उपवास (Fast) करते है।

यह भी पढ़ेHimachal Pradesh Budget 2021: टॉप 100 छात्रों को मिलेगी छात्रवृत्ति, जानिएं बजट की खास बातें

Related Articles

Back to top button