महात्मा गांधी का अस्थि कलश उत्तर प्रदेश के इस जिले में रखा है सुरक्षित

मथुरा: भारतीय इतिहास में आज के दिन 30 जनवरी को पूरा देश एक बहुत ही दुखद दिन के रूप में याद करता है। आज के दिन देशभर में सभा आयोजित करके महात्मा गांधी (Mahatma Gandhi) को श्रद्धांजलि दी जाती है। भारत देश का महात्मा गांधी (बापू) (Bapu) की 73वीं पुण्यतिथि मना रहा है। 30 जनवरी, 1948 की शाम में बिड़ला हाउस में नाथूराम गोडसे ने बीच सड़क पर महात्मा गांधी (Mahatma Gandhi) को गोली मारकर हत्या कर दी थी। उत्तर प्रदेश के मथुरा जिले में स्थित राजकीय संग्रहालय में आज तक महात्मा गांधी का अस्थि कलश सुरक्षित रखा हुआ है।

महात्मा गांधी के स्वर्गवास के बाद उनकी अस्थियां मथुरा के विश्राम घाट पर प्रवाहित करने के लिए लाई गई थीं। यमुना में अस्थि को प्रवाहित कर दिया गया इसके बाद कलश जिलाधिकारी आवास पर चला गया था। साल 1970 तक जिलाधिकारी आवास में ही अस्थि कलश रखा हुआ था। इसके बाद अस्थि कलश को राजकीय संग्रहालय में रखवा दिया गया था। पुण्यतिथि से एक दिन पहले महात्मा गांधी का अस्थि कलश आम लोगों के दर्शन के लिए रखा गया है।

ये भी पढ़ें : हमारें दिलो में आज भी जिंदा है बापू, जानें क्यों मनाया जाता है शहीद दिवस

मथुरा के राजकीय संग्रहालय में देश के कोने-कोने से लोग पहुंचते हैं यहां बहुत ही प्राचीन काल की मूर्तियां रखी हुई हैं। इस संग्रहालय में महात्मा गांधी और पूर्व प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू का अस्थि कलश भी रखा हुआ है। विशेष आयोजनों पर दर्शन के लिए अस्थि कलशों को लोगों के लिए बाहर निकाला जाता है। अब विशेष आयोजनों पर ही इन कलशों को आम लोगों के लिए बाहर रखा जाता है। राजकीय संग्रहालय में कोई भी व्यक्ति जाकर इन कक्षाओं को देख सकता है।

ये भी पढ़ें : सीएम योगी का बड़ा फैसला, गेहूं की MSP में की 50 रूपये की बढ़ोत्तरी

Related Articles