मुस्लिम तुष्टीकरण का आरोप लगाने वालों पर भड़की ममता, कहा-हिन्दुओं से प्यार मतलब मुस्लिमों से नफरत?

0

नई दिल्ली। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने शनिवार को अपने विरोधियों पर हमला करते हुए कहा कि जो उनपर मुस्लिम तुष्टीकरण का आरोप लगाते हैं वे न तो हिंदू के हितैषी हैं और न मुसलमानों के। ममता बनर्जी ने इंदिरा गांधी सरणि (जिसे पहले रेड रोड कहा जाता था) पर ईद-उल-फितर समागम को संबोधित करते हुए कहा, “कुछ लोग मेरे ऊपर मुस्लिम तुष्टीकरण का आरोप लगाते हैं। मैं उनसे पूछती हूं कि क्या हिंदुओं से प्रेम करने का मतलब मुस्लिम से नफरत करना है।”

बनर्जी ने कहा कि वह सभी समुदायों और धर्मो का सम्मान करती हैं और उनसे प्रेम करती हैं। उन्होंने कहा कि उनका पक्का विश्वास है कि पंथ, भाषा और जाति का विभेद किए बगैर भारत सबका है। वहीं केजरीवाल उपराज्यपाल के कार्यालय सह आवास ‘राजनिवास’ में पिछले छह दिनों से धरने पर हैं। जहां उन्हें उप राज्यपाल से मिलने की इजाजत नहीं दी गई है। जिस पर आम आदमी पार्टी (आप) के नेता राघव चड्ढा ने शनिवार को ट्वीट किया, “उपराज्यपाल ने मिलने की इजाजत नहीं दी।”

राघव के ट्वीट को आगे बढ़ाते हुए केजरीवाल ने कहा कि ‘यह अत्यंत विचित्र होता जा रहा है।’ इससे पहले चड्ढा ने ट्वीट किया था, “पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने शनिवार रात आठ बजे दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से मुलाकात के लिए उपराज्यपाल से समय मांगा है।” केजरीवाल, उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया और कैबिनेट मंत्री सत्येंद्र जैन व गोपाल राय सोमवार से ही राजनिवास में धरने पर हैं। इनकी मांग है कि उपराज्यपाल दिल्ली में प्रशासन चलाने वाले आईएएस अधिकारियों को अघोषित हड़ताल खत्म कर काम करने का निर्देश दें।

loading...
शेयर करें