ममता ने दी खुली चुनौती, कहा- हम अपने राज्य में दिखाएंगे पद्मावती, कोई रोक पाए तो रोक ले 

0

नई दिल्ली। संजय लीला भंसाली की अपकमिंग फिल्म ‘पद्मावती’ को लेकर विवाद बढ़ता जा रहा है। पूर देशभर में लोग इसे बैन करने में जुटे हुए हैं। बात चाहें मध्य प्रदेश की हो या गुजरात की। फिल्म को रिलीज़ होने से रोकने के लिए हर कोई अड़ा हुआ है। इतना ही नहीं राजस्थान में तो एक व्यक्ति की लाश ने इस विरोध को खूनी रंग तक दे दिया है। वहीँ, इन सब विवादों से अलग हटकर पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने इस फिल्म की रिलीज को लेकर बहुत बड़ी बात बोल दी है।

यह भी पढ़ें, पद्मावती के विरोध में लटका दी लाश, लिखा – ‘हम पुतले नहीं जलाते, लटका देते हैं’

सीएम ममता बनर्जी

ममता ने कहा कि संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावती को भले ही दूसरे राज्यों में रिलीज़ से रोका जा रहा हो लेकिन, हम इस फिल्म का स्वागत करते हैं। बंगाल में फिल्म रिलीज होगी और हमें लगता है कि फिल्म देखने के बाद लोगों को उन पर काफी गर्व होगा। ऐसे में भंसाली फिल्म का प्रीमियर यहां कर सकते हैं।

सीएम ममता ने इंडिया टुडे कॉन्क्लेव ईस्ट 2017 में कहा कि बंगाल तो पाकिस्तानी कलाकारों, गायकों के लिए भी खुला हुआ है। क्योंकि रचनात्मक लोगों की कोई सीमा नहीं होती है और कला को सीमाओं में नहीं बांधा जा सकता है। हालांकि पहले भी ममता बनर्जी ने ट्वीट के जरिये फिल्म ‘पद्मावती’ का विरोध करने वालों को जमकर लताड़ा था।

ममता ने पद्मावती फिल्म के खिलाफ विरोध की पूरी घटना को ‘सुपर इमरजेंसी’ का नाम दिया था। उन्होंने ट्वीट के जरिये इसे अभिव्यक्ति की आजादी को खत्म करने के लिए ‘दुर्भाग्यपूर्ण’ और ‘सुनियोजित’ प्रयास बताया था। ममता ने ट्वीट किया कि पद्मावती’ विवाद न सिर्फ दुर्भाग्यपूर्ण है, बल्कि हमारी अभिव्यक्ति की आजादी को खत्म करने के लिए एक राजनीतिक दल की सोची-समझी साजिश है। हम इस सुपर आपातकाल की निंदा करते हैं।

बता दें, फिल्म ‘पद्मावती’ पहले एक दिसंबर को रिलीज होने वाली थी। लेकिन, फिल्म के काफी विरोध होने के चलते अब फिल्म 1 दिसंबर को रिलीज नहीं हो रही है। वहीँ, फिल्म का विरोध करने वाले करणी सेना के चीफ का

कहना है कि फिल्म में राजपूत रानी की गलत छवि पेश की गई है। अगर फिल्म रिलीज़ हुई तो हम सिनेमाघर को जला देंगे।

loading...
शेयर करें