ममता सरकार अपना कार्यकाल करे पूरा, जनता उन्हें सत्ता से हटाएगी: अमित शाह 

पश्चिम बंगाल में राष्ट्रपति शासन लगाए जाने संभावना को खारिज करते हुए कहा मैं चाहता हूं कि ममता सरकार अपना कार्यकाल पूरा करे और आगमी विधानसभा चुनाव में जनता उन्हें सत्ता से हटाए।

बोलपुर: केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने रविवार को पश्चिम बंगाल में राष्ट्रपति शासन लगाए जाने संभावना को खारिज करते हुए कहा मैं चाहता हूं कि ममता सरकार अपना कार्यकाल पूरा करे और आगमी विधानसभा चुनाव में जनता उन्हें सत्ता से हटाए।

ममता बनर्जी के बयान कि केंद्र उनकी सरकार को गिरा सकता है पर पूछे गए सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि ममता बनर्जी इस तरह से बयान से जनता के बीच प्रसिद्ध होना तथा लोगों की सहानुभूति हासिल करना चाहती हैं। शाह ने आज यहां पत्रकारों को संबोधित करते कहा कि तृणमूल के शासनकाल में विरोधी आतंकित हैं। राज्य में राजनीतिक हिंसा चरम पर है ममता शासनकाल में करीब 300 भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं की हत्या हो चुकी है।

उन्होंने भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे. पी. नड्डा पर गत सप्ताह हुए हमले का उल्लेख करते कहा कि लोकतंत्र में सभी को अपनी बात कहने का अधिकार है। उन्होंने कहा, “मैं तृणमूल के सभी नेताओं से कहना चाहता हूं कि वे इस गलतफहमी न रहे कि भाजपा इस तरह के हमलों से रुक जाएगी। हम पश्चिम बंगाल में अपना आधार स्थापित करने के लिए काम करेंगे।”

ये भी पढ़ें : देश में कोरोना के सक्रिय मामले घटकर 3,02,343, कुल आंकड़ा एक करोड़ से अधिक 

पश्चिम बंगाल विकास के निचले पायदान पर पहुंचा

उन्होंने कहा, “पश्चिम बंगाल विकास के हर पैमाने पर निचले पायदान पर पहुंच गया है और पिछले एक दशक में राजनीतिक हत्याओं, जबरन वसूली, भाई-भतीजावाद और भ्रष्टाचार जैसे गलत कामों में फंस गया है।” उन्होंने आरोप लगाया कि प्रशासन का राजनीतिकरण किया गया है और भ्रष्टाचार को संस्थागत बनाया गया है क्योंकि ममता बनर्जी सरकार सिर्फ अपने भतीजे को मुख्यमंत्री बनाने के लिए केवल 10 करोड़ की आबादी को वंचित कर रही है।

ये भी पढ़ें : आईएसएल का सातवां सीजन: जैक्सन ने केरला को हार से बचाया

संघीय ढांचे के सभी मानदंडों का उल्लंघन कर रही

उन्होंने आरोप लगाया कि तृणमूल सरकार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की लोकप्रियता के डर से गरीबी उन्मूलन को लेकर शुरू की गयी केंद्रीय योजनाओं को अवरुद्ध कर रही है तथा संघीय ढांचे के सभी मानदंडों का उल्लंघन कर रही है।

Related Articles