इसलिए शख्स ने पीएम मोदी को भेजा 9 पैसे का चेक…सभी हैरान

नई दिल्ली: देश में पेट्रोल और डीजल के बढ़ते दाम केंद्र सरकार के लिए बड़ी मुसीबत साबित हो रही है. दरअसल, पेट्रोल और डीजल के दामों को लेकर विपक्ष तो केंद्र की सत्तारुढ़ मोदी सरकार पर बराबर हमला बोल ही रही है। इस वजह से केंद्र को जनता के रोष का सामना भी करना पड़ रहा है। भले ही बीते साथ दिनों लोगों के पेट्रोल और डीजल के दामों में आंशिक राहत जरूर मिली है, लेकिन मोदी सरकार को हमलों से कोई राहत नहीं मिली है।

इसी क्रम में पेट्रोल और डीजल के दामों को लेकर एक शख्स ने ऐसा कदम उठाया है जिसने पूरी सरकार को हिलाकर रख दिया है। दरअसल, तेलंगाना के राजन सिरसिला जिले के रहने वाले चंदू गौड ने पेट्रोल और डीजल के दाम में आंशिक कमी होने के बाद पीएम मोदी को 9 पैसे का चेक थमा दिया है। चंदू ने जिला कलेक्टर कृष्ण भास्कर को एक कार्यक्रम के दौरान 9 पैसे का चेक दिया। उन्होंने कहा कि इस चेक को पीएम रिलीफ फंड में जमा कराया जाए ताकि किसी काम आ सके।

आपको बता दें कि लगातार 7 दिन हुई कटौती के बाद पेट्रोल का दाम 60 पैसे और डीजल 43 पैसे सस्ता हुआ है। बीते मंगलवार को पेट्रोल की कीमत में 13 पैसे जबकि डीजल के दाम में 9 पैसे, सोमवार को पेट्रोल के दाम 15 पैसे और डीजल के दाम में 14 पैसे, रविवार को पेट्रोल के दाम में नौ पैसे किओइ कटौती की गई थी. पेट्रोल और डीजल के दामों में आखिरी बार 30 मई को बढ़ोत्तरी की गई थी। तब पेट्रोल और डीजल के दाम में 1 रुपये का इजाफा किया गया था। इससे पहले 16 दिन के अंदर पेट्रोल पर करीब 4 और डीजल पर 3.62 रुपये बढ़े थे।

देश में अंतरराष्ट्रीय बाजार में तेल के गिरते दामों का असर देखने को मिल रहा है। आज लगातार सातवें दिन पेट्रोल के दाम घटे हैं। मंगलवार को पेट्रोल 14 पैसे और डीजल 10 पैसे सस्ता हुआ है। कटौती के बाद दिल्ली में पेट्रोल और डीजल सबसे सस्ता है। यहां पेट्रोल 77.83 रुपये और डीजल 68.88 रुपये प्रति लीटर है। वहीं, गिरावट के बाद भी मुंबई में तेल के रेट सबसे ज्यादा हैं। मुंबई में कटौती के बाद पेट्रोल 85.65 रुपये और डीजल 73.33 रुपये प्रति लीटर है। 29 मई से अब तक पेट्रोल पर 63 पैसे और डीजल पर 46 पैसे कम किए गए हैं।

बता दें कि कर्नाटक चुनाव के बाद लगातार 16 दिन तक दाम बढ़ाने के बाद 29 मई को तेल कंपनियों ने तेल के दामों में कमी की थी। पेट्रोलियम मंत्री धर्मेद्र प्रधान ने कहा था कि तेल की कीमतों का निर्धारण तेल कंपनियां करती हैं और उसमें सरकार की कोई भूमिका नहीं होती है। पेट्रोलियम मंत्री ने बीते बुधवार को पेट्रोल और डीजल के दाम में एक पैसे की कमी को लेकर विपक्ष के ताने पर सफाई देते हुए यह स्पष्टीकरण दिया। उन्होंने कहा, “पिछले कुछ साल से पेट्रोल की कीमत बाजार द्वारा तय होती है और दैनिक कीमतों का निर्धारण पिछले साल से हो रहा है। सरकार कीमतों का निर्धारण नहीं करती है।”

Related Articles