मंदसौर हिंसा : पुलिस ने 6 साल से बिस्तर पड़े अपाहिज को ठहराया दोषी

0

भोपाल। मध्यप्रदेश के मंदसौर में जून में किसान आंदोलन हुई हिंसा में कई जाने चली गयी थी। जिसके बाद पुलिस ने आरोपियों की तलाश करते हुए 32 लोगों को इस हिंसा का दोषी ठहराया। हैरानी की बाद ये है इन दोषियों में  छह साल से बिस्तर पर पड़ा हुआ एक अपाहिज भी है। जो बिना सहारे के बिस्तर से उठ भी नहीं सकता।

मंदसौर हिंसा

विधानसभा में शुक्रवार को चर्चा के दौरान कांग्रेस विधायक रामनिवास रावत ने अपाहिज को आरोपी बनाकर पांच हजार रुपये का इनाम घोषित किए जाने का मसला उठाया। उन्होंने बताया कि छह जून को मंदसौर में किसानों पर हुई गोलीबारी के मामले में पुलिस ने आरोपियों को खोजने के लिए 32 लोगों की सूची जारी कर पांच-पांच हजार रुपये का इनाम घोषित किया है।

रावत ने इस सूची में एक अपाहिज का भी नाम होने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा, “नानूराम चर्मकार का बेटा बद्रीलाल अपाहिज है और वर्ष 2011 से बिस्तर पर पड़ा है और वह चल भी नहीं सकता। उसे भी पुलिस ने आरोपी बना दिया है।”

प्रदेश में 2 जून से 10 जून तक हुए किसान आंदोलन के दौरान 6 जून को मंदसौर में पुलिस की गोलियों और लाठियों से 6 किसान मारे गए थे। इस दौरान आगजनी भी हुई थी। पुलिस ने आगजनी व हिंसा की अन्य घटनाओं में शामिल लोगों की जो सूची बनाई है, जिसमें 32 नाम हैं।

loading...
शेयर करें