Mangal Pandey Birth Anniversary: आज ही के दिन मंगल पांडे ने किया था अंग्रेजों के विरुद्ध विद्रोह

अमर शहीद मंगल पांडे (Mangal Pandey Birth Anniversary) का जन्म 19 जुलाई 1827 को उत्तर प्रदेश के बलिया जिले के नगवा में एक ब्राह्मण परिवार में हुआ था। इनके पिता का नाम दिवाकर पांडे और माता का नाम अभय रानी था।

लखनऊ: अंग्रेजों के खिलाफ सिर उठाने वाले भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के पहले क्रांतिकारी के तौर पर विख्यात मंगल पांडे (Mangal Pandey Birth Anniversary) ने पहली बार ‘मारो फिरंगी को’ का नारा देकर भारतीयों का हौसला बढ़ाया था। उनके विद्रोह से ही प्रथम स्वतंत्रता संग्राम की शुरुआत हुई थी। बता दें कि आज 19 जुलाई को उनकी 194वीं जयंती पूरा भारत देश माना रहा है। 29 मार्च 1857 को मंगल पांडे ने अंग्रेजों के खिलाफ मोर्चा खोला था। उन्होंने कलकत्ता के पास बैरकपुर परेड मैदान में रेजीमेंड के अफसर पर हमला कर उसे घायल कर दिया था। उन्हें ऐसा महसूस हुआ था कि यूरोपीय सैनिक भारतीय सैनिकों को मारने आ रहे हैं। उसके बाद उन्होंने यह कदम उठाया था।

जानें कब और कहा हुआ था जन्म

अमर शहीद मंगल पांडे (Mangal Pandey Birth Anniversary) का जन्म 19 जुलाई 1827 को उत्तर प्रदेश के बलिया जिले के नगवा में एक ब्राह्मण परिवार में हुआ था। इनके पिता का नाम दिवाकर पांडे और माता का नाम अभय रानी था। हालांकि कई इतिहासकार ने बताया है कि उनका जन्म फैजाबाद जिले की अकबरपुर तहसील के सुरहुरपुर गांव में हुआ था। वे 1849 को ईस्ट इंडिया कंपनी की सेना में भर्ती हुए। उन्हें बैरकपुर की सैनिक छावनी में 34वीं बंगाल नेटिव इन्फैंट्री में शामिल किया गया था। वे पैदल सेना के 1446 नंबर के सिपाही रहे थे।

मंगल पांडे की जीवन पर आधारित फिल्म भी बन चुकी है। जैसे-मंगल पाण्डेय-दी रायसिंग स्टार नाम से 2005 में बनी हिंदी फिल्म में बॉलीवुड स्टार आमिर खान ने उनका किरदार निभाया था। कुछ लोगों का यह भी मानना था कि वह मूल निवासी बलिया के नगवा ग्राम के थे। लेकिन मंगल पांडे के फैजाबाद में जन्म के बाद वह फिर बलिया चले गए थे।

‘मारो फिरंगी’ का दिया था नारा

मंगल पांडे ने ”मारो फिरंगी” का नारा दिया था। उन्हें भारत के पहले शहीदों में से एक माना जाता है। उन्होंने जिस स्थान पर अंग्रेजों के खिलाफ विद्रोह किया था और बाद में जहां उन्हें फांसी दी गई, वह स्थान अब शहीद मंगल पांडे महा उद्यान के रूप में जाना जाता है।

मुख़्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उनकी जंयती पर ट्वीट कर कहा है कि बर्बर अंग्रेजी हुकूमत के विरुद्ध 1857 में क्रांति का बिगुल फूंक अपने बलिदान से राष्ट्र को जागृत करने वाले मां भारती के अमर सपूत मंगल पांडे की जयंती पर उन्हें विनम्र श्रद्धांजलि।

यह भी पढ़ें: चुनाव के लिए मायावती ने शुरू की तैयारी, मुख्य सेक्टर प्रभारियों की बदली जिम्मेदारी

(Puridunia हिन्दी, अंग्रेज़ी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब  पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

Related Articles