पीएम मोदी को नीच कहने वाले अय्यर ने कहा- पार्टी की हर सजा को भुगतने के लिए तैयार

0

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के खिलाफ अभद्र टिप्पणी करने की वजह से कांग्रेस से निष्काषित किये गए मणिशंकर अय्यर ने अपनी पार्टी द्वारा दी गई सजा को कबूल किया है। उन्होंने शुक्रवार को कहा कि वह नरेंद्र मोदी को ‘नीच आदमी’ कहने पर पार्टी की ओर से दी जाने वाली किसी भी तरह की सजा भुगतने के लिए तैयार हैं।

 

अय्यर ने कहा कि उनके बयान से गुजरात चुनाव के मद्देनजर पार्टी को अगर किसी भी तरह की क्षति पहुंचेगी तो उन्हें काफी दुख होगा। उन्होंने कहा कि मैंने जो कहा है अगर उससे पार्टी को कोई भी क्षति होगी तो मुझे उसके लिए काफी दुख होगा। कांग्रेस पार्टी इसके लिए मुझे जो भी सजा देनी चाहती है, मैं उसके लिए तैयार हूं। उन्होंने कहा कि मेरा विवाद खड़ा करने का कोई इरादा नहीं था।

आपको बता दें कि कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर ने मोदी पर विवादित टिप्पणी करते हुए कहा कि बीजेपी को अम्‍बेडकर के बारे में कुछ नहीं पता। ये (पीएम मोदी) बहुत नीच किस्म का आदमी है। इसमें कोई सभ्यता नहीं है और ऐसे मौके पर इस किस्म की गंदी राजनीति करने की क्या आवश्यकता है।

उनके इस बयान ने राजनीतिक गलियारों का माहौल खासा गर्म कर दिया था। पीएम मोदी ने अपने खिलाफ दिए गए इस बयान को मुद्दा बताते हुए जनसभा में उछाल दिया। जिसके बाद कांग्रेस बैकफुट पर जाती नजर आई।

कांग्रेस के खिलाफ हो रहे इन हमलों से बचाव करते हुए राहुल गांधी ने ट्वीट करके कहा कि बीजेपी और पीएम कांग्रेस पर हमला करने के लिए लगातार खराब भाषा का इस्तेमाल करते हैं। कांग्रेस की अलग संस्कृति और विरासत है। मैं मणिशंकर द्वारा मोदी के लिए इस्तेमाल भाषा और लहजे की निंदा करता हूं। कांग्रेस और मुझे दोनों को ही लगता है कि उन्हें अपने बयान के लिए माफी मांगनी चाहिए।

इसके बाद अय्यर ने देर नहीं की और अपने बयान पर सफाई देते हुए माफी मांग ली। उन्होंने सफाई देते हुए कहा कि हिंदी उनकी भाषा नहीं है। अंग्रेजी में Low शब्द सोचकर हिंदी में नीच शब्द का इस्तेमाल किया था। मणिशंकर के मुताबिक, अगर हिंदी में लो का मतलब ‘लो बॉर्न’ (नीची जाति में जन्म लेने वाला) होता है तो वह माफी मांगते हैं।

loading...
शेयर करें