बढ़ती गर्मी के कारण हो सकती है कई गंभीर समस्याएं, जानें क्या है इसका बचाव

अभी गर्म और उमस भरा मौसम दिन-प्रतिदिन बढ़ता ही जा रहा है जिससे गर्मी अपनी चरम पर है। यह मौसम न केवल आपको गर्मी देती है, बल्कि खतरनाक बीमारी और गंभीर स्थिति में भी डाल सकती है। अगर इस गर्मी के मौसम में आपने उचित सावधानी नहीं बरती तो ये किसी भी व्यक्ति को बीमारी से प्रभावित कर सकती है, जो जानलेवा भी हो सकती है। इससे बचने के लिए आपको कई तरह की सावधानियों को बरतना काफी जरूरत हो जाता है। ऐसे में लोग काफी परेशान रहते हैं कि कैसे गर्मी की मार से बचा जा सके। हम आपको इस लेख के जरिए बताते हैं कि गर्मी की बीमारियां क्या है और आप उन्हें कैसे रोक सकते हैं।

हाइपरथर्मिया (Hyperthermia)

हाइपरथर्मिया ये एक ऐसी स्थिति है जिसमें आपके शरीर का तापमान बाहर के बढ़ते तापमान के कारण बहुत ज्यादा होने लगता है। हाइपरथर्मिया में शरीर का तापमान आमतौर पर 99.5 डिग्री से ऊपर होता है। हाइपरथर्मिया की गंभीर स्थिति में ये तापमान 104 डिग्री या उससे ऊपर भी पहुंच जाता है, जिससे नजरअंदाज करने पर ये जानलेवा भी हो सकता है। आपको बता दें कि हाइपरथर्मिया में बुखार दूसरे बुखार की तरह नहीं है क्योंकि यह बाहर की गर्मी के कारण होता है। जबकि दूसरे बुखार किसी संक्रमण और बीमारियों के कारण होता है।

हाइपरथर्मिया के लक्षण (Symptoms Of Hyperthermia)

हाइपरथर्मिया ज्यादा गर्मी होने के कारण होती है, ऐसे में इसके लक्षण अलग-अलग तरह के भी हो सकते हैं। जैसे:

हीट रैश

हीट रैशेज तब दिखाई देती है, जब आपकी त्वचा में आपका पसीने रोमछिद्रों में फंस जाते हैं। ये काफी छोटे होते हैं और ज्यादातर लाल-गुलाबी रंग के होते हैं। कभी-कभी ये हल्के पिंपल्स की तरह भी हो सकते हैं।

क्रिशटालीना

ये साफ पानी के बुलबुले की तरह आपकी त्वचा पर दिखते हैं और कई घंटों या दिनों तक आपके साथ रह सकते हैं। ये बिना दर्द के आपके साथ रहते हैं और समय के साथ ठीक हो जाते हैं।

हीटस्ट्रोक

ज्यादातर लोग हीटस्ट्रोक का शिकार होते हैं, ये गर्मी की बीमारी का सबसे गंभीर रूप है। हीट स्ट्रोक में तापमान 104 डिग्री से ऊपर होता है और केंद्रीय तंत्रिका तंत्र की शिथिलता है। ये एक गंभीर स्थिति के बाद जानलेवा भी हो सकता है।

बचाव (Prevention)

गर्मी में ज्यादा देर तक न रहें

अगर आप बाहर रहते हैं तो कोशिश करें कि ज्यादा देर तक धूप या गर्मी का सामना न करें। इससे आपके शरीर में पानी की कमी हो सकती है और आप हीट स्ट्रोक का शिकार हो सकते हैं।

ज्यादा से ज्यादा आराम करें

अगर आप कोई शारीरिक गतिविधि कर रहे हैं, तो जरूरी है कि आपको थोड़ी-थोड़ी देर में आराम करना चाहिए। इससे आपका शरीर अंदर से गर्म होने से बचता है और आपको पानी की कमी भी नहीं होती।

हाइड्रेट रहें

गर्मी के मौसम में सबसे ज्यादा जरूरी होता है कि हम समय-समय पर पानी पीते रहें जिससे कि हमारे शरीर में पानी की कमी न हो और हम हाइड्रेट रहने में कामयाब हो सके। पानी के अलावा आप फल और जूस का सेवन भी कर सकते हैं, इनसे भी आपको पानी की कमी पूरी होती है और आप डिहाइड्रेशन से बचे रहते हैं।

Related Articles