देश के पहले राष्ट्रपति डॉ. राजेंद्र प्रसाद की जयंती पर मोदी सहित कई दिग्गजों ने दी श्रद्धांजलि

पहले राष्ट्रपति डॉ. राजेंद्र प्रसाद की जयंती पर प्रधानमंत्री मोदी, रामनाथ कोविंद सहित कई दिग्गजों ने दी श्रद्धांजलि

नई दिल्ली: भारत के पहले राष्ट्रपति और महान स्वतंत्रता सेनानी डॉ. राजेंद्र प्रसाद की जयंती पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू और रक्षा मंत्री राजनाथ सहित देश के कई बड़े दिग्गजों ने उन्हें श्रद्धांजलि दी है।

पीएम ने दी श्रद्धांजलि

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीटर पर कहा, पूर्व राष्ट्रपति भारत रत्न डॉ. राजेन्द्र प्रसाद की जयंती पर उन्हें मेरी सादर श्रद्धांजलि। स्वतंत्रता संग्राम और संविधान निर्माण में उन्होंने अतुलनीय भूमिका निभाई। सादा जीवन और उच्च विचार के सिद्धांत  पर आधारित उनका जीवन देशवासियों को सदैव प्रेरित करता रहेगा।

राष्ट्रपति का जन्म

डॉ. राजेन्द्र प्रसाद का जन्म 3 दिसम्बर सन् 1884 को बिहार के तत्कालीन सारण जिले सीवान के जीरादेई नामक गाँव में हुआ था। उनके पिता महादेव सहाय संस्कृत एवं फारसी के विद्वान थे। राजेन्द्र प्रसाद के पूर्वज मूलरूप से  (उत्तर प्रदेश)   कुआंगांव, अमोढ़ा के निवासी थे। यह एक कायस्थ परिवार था। कुछ कायस्थ परिवार इस स्थान को छोड़ कर बलिया जा बसे थे। कुछ परिवारों को बलिया भी रास नहीं आया इसलिये वे वहां से बिहार के जिला सारण (सीवान) के एक गांव जीरादेई में जा बसे। इन परिवारों में कुछ शिक्षित लोग भी थे।

राष्ट्रपति कोविंद ने दी श्रद्धांजलि

राष्ट्रपति कोविंद ने राष्ट्रपति भवन में उनकी जयंती पर भारत के पहले राष्ट्रपति डॉ. राजेंद्र प्रसाद को पुष्पांजलि अर्पित की।

महान भारतीय स्वतंत्रता सेनानी

28 फरवरी सन् 1963 को बिहार की राजधानी पटना में उनकी मृत्यु हो गई थी। डॉ. राजेन्द्र प्रसाद भारत के प्रथम राष्ट्रपति एवं महान भारतीय स्वतंत्रता सेनानी थे। वे भारतीय स्वाधीनता आंदोलन के प्रमुख नेताओं में से एक थे और उन्होंने भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के अध्यक्ष के रूप में प्रमुख भूमिका निभाई। और भारतीय संविधान के निर्माण में भी अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया था। डॉ. राजेन्द्र प्रसाद भारत के पहले मंत्रिमंडल में 1946 एवं 1947 में कृषि और खाद्यमंत्री का दायित्व भी निभाया था। इसलिए सम्मान से उन्हें ‘बाबू’ कहकर पुकारा जाता है।

यह भी पढ़े: तमिलनाडु तट के पास पहुंचा चक्रवाती तूफान ‘बरेवी’ मचा सकता है तबाही

यह भी पढ़ेकेंद्र सरकार के पास जीएसटी क्षतिपूर्ति का भुगतान बकाया: हेमन्त

Related Articles

Back to top button