मासूम के रेपिस्ट को कोर्ट ने दी फांसी की सजा, सिर्फ 70 दिनों में कर दिया फैसला

0

अलवर। राजस्थान में शनिवार को अलवर की एससी-एसटी की स्पेशल कोर्ट ने सात माह की बच्ची के साथ रेप के दोषी को फांसी की सजा सुना दी। पीड़िता और उसके परिजनों को न्याय दिलाते हुए कोर्ट ने ये सजा महज 70 दिनों में ही सुनिश्चित कर दी।

बीती नौ मई की रात को सात माह की बच्ची के साथ रेप की घटना सामने आई थी। जिसमें पीड़िता के पिता ने 10 मई को आरोपी पिंटू (19) के खिलाफ नामजद रिपोर्ट दर्ज करायी थी। आपको बता दें कि बच्ची की मां उसे अपनी जेठानी के पास सोता छोड़ गई थी और वह पानी लेने चली गयी थी। जेठानी देख पाने में सक्षम नहीं हैं। जब पिंटू घर आया तो वह मौका पाते ही बच्ची को उठा कर ले गया। बच्ची वहां स्थित एक सरकारी स्कूल के मैदान में झाड़ियों के बीच खून से लतपत हालत में रोती बिलखती पायी गयी थी।

पुलिस ने पिंटू को गिरफ्तार कर उसके खिलाफ 363, 366, 376एबी, 5एम/6 पॉक्सो एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया। रोजाना सुनवाई के बाद 19 वर्षीय पिंटू को रेप जैसे घिनौने अपराध में फांसी की सजा सुनाई। विशिष्ट न्यायाधीश जगेंद्र अग्रवाल ने मामले की गंभीरता को देखते हुए 28 जून से रोजाना सुनवाई शुरू की थी।

न्यायाधीश ने 22 अदालती कार्य दिवसों में हुई सुनवाई के तहत मंगलवार को दोनों पक्षों की अंतिम बहस सुनी और बुधवार को फैसला सुरक्षित रख लिया था। जिसे शनिवार को सुना दिया गया।

loading...
शेयर करें